Home » आईएसआईएस के लिए काम करने वाले तीन आतंकी जबलपुर से गिरफ्तार, भोपाल एनआईए कोर्ट में पेश 

आईएसआईएस के लिए काम करने वाले तीन आतंकी जबलपुर से गिरफ्तार, भोपाल एनआईए कोर्ट में पेश 

राजधानी भोपाल में बांग्लादेशी आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी), पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई), हिज्ब-उत-तहरीर (एचयूटी), रतलाम और इंदौर में सूफा संगठन के संदिग्ध आतंकियों और कट्टरपंथियों के पकड़े जाने के बाद जबलपुर में एक और आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ एनआईए ने किया है। एनआईए ने टेरर फंडिंग में जबलपुर से गिरफ्तार अब्दुल रज्जाक से हुई पूछताछ और मिले दस्तावेजों के जांच के आधार पर जबलपुर में आईएसआईएस के नए मॉड्यूल का भांडाफोड़ किया है। यह आईएसआईएस मॉड्यूल वाट्सएप, इस्टाग्राम, फेसबुक और यू-ट्यूब में कई चैनल बनाकर विशेष समुदाय के युवाओं को जोड़कर उनका ब्रेनवॉश कर आतंकवादी गतिविधियों में धकेल रहे थे। यह मॉड्यूल भारत को दहलाने के लिए पिस्टल, हथियार, ग्रेनेड और आईडी जैसे खतरनाक विस्फोटक खरीदने के लिए तस्करों के संपर्क में थे। एनआईए ने 24 मई को इस मामले में प्रकरण दर्ज किया था। बीती रात मप्र एटीएस के साथ मिलकर एनआईए ने जबलपुर के ओमती थाना क्षेत्र सहित 13 स्थानों पर एक साथ छापा मारा है। छापे की कार्रवाई बीती रात 11:30 बजे से शुरू हुई जो शनिवार दोपहर करीब 12 बजे के बाद चल चलती रही। 13 स्थानों पर छापेमारी में  आईएसआईएस के लिए फंड जुटाने, युवाओं को आईएसआईएस  से जोडऩे और देश में आतंकवादी धमाके कर दहलाने की योजना बनाने वाले तीन संदिग्धों का गिरफ्तार किया है। इसके अलावा दर्जन भर से अधिक लोगों को पूछताछे के लिए हिरासत में लिया गया है। हिरासत में लिए गए लोगों ने सिमी आतंकवादियों की उच्च न्यायालय में पैरवी करने वाला अधिवक्ता नईम खान भी शामिल है।
एटीएस ने इन संदिग्ध आतंकियों को किया गिरफ्तार
एनआईए के साथ मप्र एटीएस ने बीती रात छापेमारी कर जबलपुर से सैयद ममूर अली, मोहम्मद आदिल खान और मोहम्मद शाहिद को गिरफ्तार कर भोपाल एनआईए कोर्ट में पेश किया है, जहां से पूछताछ के लिए तीनों को मप्र एटीएस को सौंपा गया है। संदिग्ध आतंकियों के ठिकानों से तलाशी के दौरान भारी मात्रा में धारदार हथियार, गोला-बारूद (निषिद्ध बोर सहित), आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल उपकरण भी जब्त किए गए हैं। यह कार्रवाई अगस्त 2020 में आईएसआईएस समर्थक गतिविधियों और टेरर फंडिंग के आरोप में आदिल खान की हुई गिरफ्तारी के बाद की गई जांच में मिले साक्ष्यों के आधार पर की गई है। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ एनआईए ने इसी महीने की 24 तारीख को मामला दर्ज किया है।
आईएसआईए के इशारे पर कर रहे थे काम
एनआईए व एटीएस की पूछताछ में सामने आया है कि गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी आईएसआईएस के इशारे पर युवाओं को आतंकवादी संगठनों से जोड़ रहे थे। भारत में हिंसक आतंकी हमले करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के साथ-साथ जमीनी दावा कार्यक्रमों के माध्यम से आईएसआईएस के प्रचार प्रसार में शामिल थे। यह आतंकी मॉड्यूल स्थानीय मस्जिदों और घरों में बैठकें करता था और देश में आतंक फैलाने की योजना और साजिशें रचता था।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd