Home भोपाल विभिन्न मुद्राओं में की गई डंडे और तलवारबाजी की प्रस्तुतियां

विभिन्न मुद्राओं में की गई डंडे और तलवारबाजी की प्रस्तुतियां

73
0

स्वदेश संवाददाता। भोपाल भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद भोपाल और अंचालिक विज्ञान केन्द्र में अखाड़ा मार्शल आट्र्स के कार्यक्रम में 18 कलाकारों द्वारा डंडे, तलबारबाजी और विभिन्न मुद्राओं में प्रस्तुति को रोचक तरीके से प्रस्तुत किया गया। एक जैसी वेश-भूषा तथा ढोल की थाप दर्शकों में ऊर्जा का संचार कर रही थी। कार्यक्रम में आकर्षण का केन्द्र मानव पैरामिड बनाकर ढेरा को धुमाना, दर्शकों को खूब भाया। प्राचीन काल से चली आ रही इस कला को सहजे अखाड़ा मार्शल आट्र्स अभी भी अपनी प्रस्तुाति के माध्यबम से कला को प्रभावी बनाए हुए है। अखाड़ा मार्शल आट्र्स कला दल अभी तक 15 हजार से ज्यादा बच्चों को प्रशिक्षित कर चुके है। कार्यक्रम में लाठी युद्ध्, लाठी को विभिन्न मुद्रा में घुमाना, तलवार चलना, ढाल पर वार सहना इत्यादि यह सब मार्शल आट्र्स पर कलाकारों ने सफल प्रस्तुयतियॉं दी है।
कला रसिकों के लिए आयोजन
भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) क्षेत्रीय कार्यालय, भोपाल हमेशा कला एवं संगीत के विभिन्न सोपानों की प्रस्तुतियॉं कला रसिकों के लिए आयोजित करने हेतु प्रयासरत् है। इसी अनुक्रम में एक शाम होराईजन श्रृंखला के अन्तर्गत सागर मध्यलप्रदेश से मार्शल आर्ट नृत्य संध्या का कार्यक्रम अखाड़ा मार्शल आट्र्स संचालक भगवानदास रायकवार सागर द्वारा किया गया।
ये रहे उपस्थित
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मनोज कुमार, आईसीसीआर के क्षेत्रीय निदेशक व कृष्णेन्दु चौधुरी, प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर, आंचलिक विज्ञान केन्द्र, भोपाल उपस्थित रहे। जिन्होंने दीप प्रज्जवलित करके इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में क्षेत्रीय निदेषक मनोज कुमार द्वारा पुष्प गुच्छ भेंट कर कलाकार का सम्मान किया गया। अपने उदबोधन में क्षेत्रीय निदेषक मनोज कुमार ने भारतीय संस्कृति की महत्वता पर प्रकाश डालते हुऐ कलाकार को शुभकामनायें दी।

Previous articleचार दिवसीय योग एवं ध्यान कार्यशाला का हुआ समापन
Next articleराम मंदिर निर्माण को मस्तान सिंह ने दिए 111001 रुपये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here