Home भोपाल चांद का दीदार तन्हा करें, गले मिलकर नहीं दो गज दूरी से...

चांद का दीदार तन्हा करें, गले मिलकर नहीं दो गज दूरी से कहें- ईद मुबारक…

13
0

भोपाल. ईद पर भी कोरोना का काला साया पड़ गया. कोरोना के भयावह संक्रमण से बचाव के लिए अब ईद जैसे मुबारक मौके पर भी लोग गले नहीं मिल पाएंगे. सोशल डिस्टेंस यहां भी अपनाना पड़ेगा यानि दो गज की दूरी से कहना पड़ेगा ईद मुबारक. मुस्लिम समाज के काज़ी भी यही अपील कर रहे हैं. इस साल ईद पर कोरोना इफेक्ट है. ईद के इस त्यौहार को गले लग कर नहीं बल्कि 2 गज दूरी से एक दूसरे को ईद मुबारक कहने की अपील की गई. कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए कहा गया है. चांद देखने के दौरान भीड़ ना इकट्ठी करने की अपील की गई है. घरों में नमाज अदा करने के लिए कहा गया है. इस महामारी के दौर में सुरक्षित ईद का पैगाम दिया गया है.
अकेले करें चांद के दीदार
भोपाल की मसाजिद कमेटी में शहर काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी की अध्यक्षता में उलेमाओं की मंगलवार को बैठक हुई थी. उसमें ईद को लेकर कई अहम फैसले लेते हुए जनता से अपील भी की गयी. बैठक में तय किया गया कि आज शाम रुअते हिलाल कमेटी सदस्य ईदुल फितर का चांद देखेंगे. कोरोना के कारण लोग भीड़ ना लगाएं. चांद दिखाई देने के बाद ऐलान किया जाएगा. अगर बुधवार शाम को चांद दिखाई दिया तो गुरुवार को ईदुल फितर का त्योहार मनाया जाएगा. नहीं तो शुक्रवार को ईद होगी.
घर पर पढ़ें नमाज़
मसाजिद कमिटी ने अपील की है कि मौजूदा हालात को देखते हुए कोरोना गाइडलाइन का पालन हर हाल में करें. मुख्य नमाज मस्जिद के लोग वहीं अदा करें. बाकी के लोग अपने अपने घरों पर नमाज अदा करें. साथ ही ईदुल फितर के कारण मस्जिदों में सुबह 6:15 बजे गाइडलाइन के मुताबिक नमाज अदा की जाए. बाकी के लोग अपने घरों में नमाज पढ़ें. शहर काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी ने कहा घर पर चंद लोगों के साथ वह 4 या 2 रकात नमाज पढ़ें. नमाज अदायगी के बाद इंसानियत के लिए दुआ मांगें. महामारी के खात्मे की फरियाद करें. एक दूसरे से दूरी बनाकर रखें. मास्क का उपयोग करें. एक दूसरे से गले मिलने और हाथ मिलाने से बचें.
बोहरा समाज की ईद आज
दाऊदी बोहरा समाज आज ईदुल फितर का पर्व मना रहा है. कोरोना के खात्मे के लिए दुआ की जा रही है. मंगलवार को दाऊदी बोहरा समाज का रमजान माह खत्म हो गया. इसलिए वहां आज ईद मनायी जा रही है. प्रशासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए घर में ही नमाज अदा की गयी. मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा करने की इजाजत नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here