Home भोपाल नरोत्तम मिश्रा बोले- 31 साल में इतना अकर्मण्य नेता प्रतिपक्ष नहीं देखा…...

नरोत्तम मिश्रा बोले- 31 साल में इतना अकर्मण्य नेता प्रतिपक्ष नहीं देखा… न धरना, न प्रदर्शन, न आंदोलन…सेवा कार्य ही किये होते

54
0

भोपाल। कोरोना के भारतीय वैरियंट कहने आग लगाने को संबंध कथित वीडियो वॉयरल होने के बाद राज्य सरकार और भाजपा नेताओं के निशाने पर आए प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष और मप्र के नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ की चौरफा घेराबंदी की जा रही है। मंगलवार सुबह प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 31 साल से विधानसभा का सदस्य हूं। अपने 31 साल में इतना अकर्मण्य नेता प्रतिपक्ष नहीं देखा। कमलनाथ को नेता प्रतिपक्ष बने भी एक साल हो गए। इस एक साल में न मैंने कोई धरना-प्रदर्शन देखा, न आंदोलन ही कोई किया। इतना ही नहीं कमलनाथ कोरोना महामारी के दौरान कहीं सेवा कार्य करते हुए भी नहीं दिखे। चलो मान लेते हैं कि उम्र के इस पड़ाव में धरना-प्रदर्शन और आंदोलन नहीं कर सकते तो कम से कम सेवा कार्य ही कार्य कर दिया होता। मीडिया से मुखातिब होते हुए डॉ. मिश्रा ने कहा कि आप लोगों ने भी कोरोना महामारी के दौर में एक साल में कमलनाथ को कहीं सेवा कार्य करते नहीं देखा होगा।
कमलनाथ बताएं वे झूठ बोल रहे या कांग्रेस
गृह मंत्री ने कहा कि अब कांग्रेस पार्टी कह रही है कि मध्यप्रदेश में स्थानीय निकायों में जाकर कांगे्रस पार्टी कोरोना से हुई मौतों का आंकड़ा जुटाएगी। ऐसे में कमलनाथ स्पष्ट करें कि उन्होंने बीते दिनों प्रदेश में कोरोना से मौतों को लेकर जो आरोप लगाए, बिना गणना के राज्य सरकार पर आरोप लगाए थे, वे झूठे हैं या कांग्रेस पार्टी झूठी है।
विरोध सर आंखों पर, बदनामी नहीं
मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि विपक्ष का काम है विरोध करना। विपक्ष के हर विरोध सर आंखों पर। विरोध सर आंखों पर है, लेकिन बदनामी सर आंखों पर नहीं है। मंत्री ने कहा कि कोरोना वैक्सीन का विरोध करने वाले कांगे्रस व अन्य विपक्षी पार्टियों के नेता छिप-छिपकर टीका लगवा रहे हैं। जो पहले भाजपा की वैक्सीन, मोदीजी की वैक्सीन कहते थे, सब कोरोना वैक्सीन लगवा रहे हैं।
मप्र में सिर्फ 4 जिलों में संक्रमण दर 4 फीसदी से अधिक
डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के सिर्फ चार जिले इंदौर, भोपाल, सागर और नीचम में कोरोना संक्रमण दर पांच फीसदी से अधिक है। प्रदेश में धीरे-धीरे कोरोना नियंत्रण होते जा रहा है। अब प्रदेश में संक्रमण की दर मात्र 3.39 प्रतिशत रह गई है, जबकि रिकवरी रेट 92.6 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश में आज 4 हजार 222 नए पॉजिटिव कैसे मिले हैं जबकि स्वस्थ होकर 7 हजार 873 लोग अपने घरों को लौटे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस का कोई जवान आपको जब मास्क लगाने के लिए रोकता, टोकता है तो इसमें उनका क्या हित है। जो आपकी स्वास्थ्य रक्षा के लिए काम कर रहे हैं, कृपया उन पर हमला न करें। कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में जनता के सहयोग से ही सफलता मिल रही है। प्रदेश के 11 जिलों में संक्रमण की दर 1 प्रतिशत के आसपास आ गई।

Previous articleमप्र डीजीपी की नसीहत : लोगों से सलीके से पेश आएं, उलझें नहीं पुलिसकर्मी
Next articleकोरोना संकट के दौरान अप्रत्याशित तौर पर स्वास्थ्य सुविधाओं की मांग : डॉ. हर्षवर्धन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here