Home भोपाल मध्‍य प्रदेश ने दिए वैक्सीनेशन के लिए पांच करोड़ 29 लाख...

मध्‍य प्रदेश ने दिए वैक्सीनेशन के लिए पांच करोड़ 29 लाख डोज के ऑर्डर

14
0

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पांच करोड 29 लाख डोज के ऑर्डर दिए गये हैं। यह जानकारी स्‍वयं मुख्‍यमंत्री शिवराज सिह चौहान ने गुरूवार को शहडोल में कोरोना से बचाव के लिए किये जा रहे प्रयासों की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में जन-प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को संबोधित करते हुए दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल कॉलेज शहडोल में सीटी स्केन मशीन, एमआरआई मशीन तथा 180 ऑक्सीजन के बेड्स बढ़ाये जायेंगे तथा अनूपपुर जिले में 30 ऑक्सीजन बेड्स एवं 10 आईसीयू बेड्स बढाये जायेंगे। उमरिया में 40 ऑक्सीजन बेड्स तथा 30 आईसीयू बेड्स बढाये जायें तथा शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर में 6-6 वेंटीलेटरयुक्त बेड्स बढाये जायेंगे। शिवराज ने कहा है कि कोरोना काल में हर हाल में और हर कीमत पर लोगों की जिंदगी बचाना मध्यप्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। इस दिशा में मध्यप्रदेश सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। इसके सकारात्मक परिणाम भी आने लगे हैं, मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रकरणों में तेजी से कमी आ रही है। उन्होंने कहा कि मैं इस संकल्प के साथ शहडोल आया हूँ कि कोरोना का संक्रमण हम सबको मिलकर समाप्त करना है तथा जो संक्रमित हो गये हैं, उन कारोना मरीजों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ मिलें, यह सुनिश्चित करना है। चौहान ने कहा कि कोरोना को भगाने के लिए हम सबको मिलकर अंतिम प्रहार करना है और कोरोना को सदा के लिए भगाना है। इसके लिए हम सबको मिलकर कोरोना कर्फ्यू का पालन करना होगा, टीकाकरण में सहजता से भाग लेना होगा तथा कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना टीकाकरण के प्रति लोगों में कई भ्रांतियाँ फैली हुई हैं, लोगों की भ्रांतियों को दूर करने के लिए सतत अभियान चलायें। इस अभियान में जन-प्रतिनिधियो की भागीदारी भी सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि किसी परिवार के मुखिया की मौत कोरोना से हो जाती है, तो ऐसे परिवार को प्रदेश सरकार पांच हजार रूपये की पेंशन देगी तथा मुखिया की पत्नी अगर कोई रोजगार स्थापित करना चाहे, तो सरकार उसकी मदद करेगी, ऐसे परिवार के बच्चों का भरण-पोषण एवं शिक्षा का भार प्रदेश सरकार उठायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना किल अभियान के तहत घर-घर जाकर सर्वें होना चाहिये। सर्दी, जुकाम एवं बुखार वालों का समुचित उपचार होना चाहिये तथा कोरोना की स्थिति पाये जाने पर ऐसे मरीजों का आइसोलेशन होना चाहिये। मुख्यमंत्री ने शहडोल, अनूपपुर एवं उमरिया जिले के कलेक्टरों से किल कोरोना अभियान की प्रगति की जानकारी ली। समीक्षा के दौरान कमिश्नर शहडोल संभाग राजीव शर्मा ने बताया कि कोरोना मरीजों के उपचार के लिये शहडोल मेडिकल कॉलेज, उमरिया और अनूपपुर में ऑक्सीजन सिलेण्डरों की समुचित व्यवस्था है, वर्तमान में शहडोल संभाग में ऑक्सीजन सिलेण्डर की कहीं कमी नहीं है। बैठक में कमिश्नर ने बताया कि मेडिकल कॉलेज शहडोल में 123 नर्सों की भर्ती की गई है तथा चार डॉक्टर्स एवं पैरामेडिकल स्टाफ की भी भर्ती की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here