Home भोपाल मप्र डीजीपी की नसीहत : लोगों से सलीके से पेश आएं, उलझें...

मप्र डीजीपी की नसीहत : लोगों से सलीके से पेश आएं, उलझें नहीं पुलिसकर्मी

13
0

कोरोना कर्फ्यू का पालन कराते समय कई स्थानों पर हो चुका है लोगों से विवाद
भोपाल।
प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ने मैदानी पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए हैं कि वे कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के दौरान किसी से उलझें नहीं, सलीके से पेश आए। यह निर्देश पुलिस पुलिस महानिदेशक को ऐसे समय देना पड़ा है, जब प्रदेश के कई जिलों में कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के दौरान आम लोगों के साथ पुलिसकर्मियों का अमानवीय व्यवहार सामने आ चुका है। डीजीपी विवेक जौहरी ने जवानों को निर्देश दिए हैं कि वे आम लोगों से सलीके से पेश आएं। बताया जाता है कि आम जनता और पुलिसकर्मियों के बीच सड़क पर बढ़ते विवादों को रोकने के लिए ही डीजीपी ने बैठक बुलाई थी। डीजीपी ने कहा कि पुलिसकर्मियों को जनता के साथ संयमित व्यवहार करें ताकि, लोगों के बीच पुलिस की छवि खराब न हो और उनका पुलिस में विश्वास बढ़े। डीजीपी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कई अधिकारियों से चर्चा की है।
फेस शील्ड अनिवार्य करें
पुलिस महानिदेशक ने कहा कि कोरोना कफ्र्यू का पालन कराने के दौरान चैकिंग पॉइंट पर कई बार जनता के साथ विवाद की स्थिति बन जाती है। लेकिन, इन परिस्थितियों में हमें संयमित व्यवहार करना है। इसके अलावा ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी कर्मचारी एन-95 मास्क का उपयोग जरूर करें। यदि एन-95 मास्क उपलब्ध नहीं है तो कपड़े के मास्क के अंदर सर्जिकल मास्क लगाकर उपयोग किया जाए। साथ ही ड्यूटी पॉइंट पर फेस शील्ड लगाना अनिवार्य करें।
संक्रमित साथी के स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहें
डीजीपी श्री जौहरी ने कहा कि अगर कोई कर्मचारी कोरोना से संक्रमित होने के बाद घर पर ही इलाज कराता है, तो ऐसी दशा में नोडल अधिकारी समय-समय पर उसके परिवार से उसकी जानकारी प्राप्त करते रहें। यदि इलाज सही तरीके से नहीं हो रहा है तो उसके लिए जरूरी कार्रवाई करें। उन्होंने यह भी कहा कि संक्रमित कर्मचारियों की संख्या अधिक होने पर पुलिस कमांडर खुद इसकी समीक्षा करें कि किस कारण से कर्मचारी अधिक संक्रमित हो रहे हैं। साथ ही उपचार करने वाले डॉक्टरों से बात कर जानकारी पुलिस मुख्यालय को भेजें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here