Home भोपाल नरोत्तम मिश्रा का दिग्विजय सिंह पर हमला: हिंदुओं को कश्मीर में बसने...

नरोत्तम मिश्रा का दिग्विजय सिंह पर हमला: हिंदुओं को कश्मीर में बसने से डरा रहे हैं , कांग्रेस सत्ता में आई तो होगा 1990 जैसा कत्लेआम

22
0

भोपाल। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 हटने के बाद से कश्मीरी पंडितों ने वहां पर स्थापित होने का सोचा. देश के व्यापार से कश्मीर तेजी के साथ जुड़ रहा था. वहीं भ्रम दिग्विजय सिंह को हो गया कि कहीं यह हिंदू जाकर वहां बस न जाएं. उन्होंने उनके मन में भय पैदा कर दिया कि जब कांग्रेस आयेगी, तब 1990 जैसा कत्लेआम होगा. अज्ञात आशंकाओं से हिंदुओं को ग्रसित कर दिया. कश्मीर को पुन: उन्होंने देश से काटने का प्रयास किया हैं. उन्होंने कहा कि हम लोग किसी समुदाय के विरोधी नहीं है. हम उन लोगों के विरोधी हैं, जो भारत में रहकर देश का विरोध करते हैं.
कश्मीरी पंडितों में भय पैदा करना चाहते हैं दिग्गी
दरअसल, दिग्विजय सिंह ने पिछले दिनों पाकिस्तानी पत्रकार के सवाल के जवाब में कहा था कि कांग्रेस की सरकार आने पर अनुच्छेद-370 (Article 370) फिर से लागू करने पर विचार किया जाएगा. दिग्विजय सिंह के इस बयान पर जमकर राजनीति गरमाई हुई हैं. बयान को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय अनुच्छेद-370 को वापस लाने की बात कहकर कश्मीर के विस्थापित पंडितों में भय पैदा करना चाहते हैं, ताकि फिर वह कश्मीर जाकर बस न जाएं. मोहन भागवत और दिग्विजय सिंह के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि इन दोनों के बयान की तुलना करना ठीक नहीं है. गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के पास कोई विश्वसनीय नेतृत्व ही नहीं बचा हैं. विश्वसनीयता खो चुके व्यक्ति के बारे में विश्वसनीयता की बात करना बेमानी हैं.
प्रदेश में घट रही कोरोना की रफ्तार
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना कम होने की लगातार अच्छी खबरें सामने आ रही हैं. मध्य प्रदेश में आज यानी सोमवार को सिर्फ 242 केस सामने आए हैं. यह केस 79000 सैंपल में मिले हैं. प्रदेश की रिकवरी रेट 98 फीसदी हो गई हैं. छह से ज्यादा जिलों में कोरोना के एक भी केस नहीं निकले हैं. सिमी आतंकियों द्वारा वैक्सीन न लगवाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि वह टीका लगवाएं.

Previous articleMP में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, जून में ही 144 प्रतिशत अधिक बरसे मेघ
Next articleशिवराज कैबिनेट की बैठक शुरू :स्कूल-कॉलेज बंद होने से पढ़ाई के अन्य तरीकों पर विचार होगा; अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने पर मंथन, कोरोना की तीसरी लहर रोकने का रोडमैप तैयार होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here