Home भोपाल भेल के रिटायर्ड अधिकारी के खाते से बैंक अधिकारी बनकर जालसाज ने...

भेल के रिटायर्ड अधिकारी के खाते से बैंक अधिकारी बनकर जालसाज ने 10.40 लाख निकाले

12
0

बैंक अधिकारी बनकर खाता चालू रखने ओटीपी पूछकर 28 बार में निकाली रकम
भोपाल।
पिपलानी थाना क्षेत्र में रहने वाले भेल के एक रिटायर्ड अधिकारी के बैंक खाते से जालसाज ने ओटीपी पूछकर 28 बार में साढ़े दस लाख रुपए निकाल लिए। जालसाज ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की मुंबई स्थित मेन ब्रांच का मैनेजर बनकर फरियादी वृद्ध को फोन किया था। घटना चार जून की बताई जा रही है। फरियादी की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। क्राइम ब्रांच के अनुसार जालसाज ने रिटायर्ड अधिकारी के मोबाइल पर एक मैसेज भेजा था। मैसेज में दिए गए मोबाइल नंबर पर फोन कर केवायसी अपडेट कराने को कहा गया था। फरियादी 75 वर्षीय देवनाथ सिंह पाठक सी-सेक्टर पिपलानी में रहते हैं और भेल के रिटायर्ड अधिकारी हैं।

उन्होंने पुलिस को बताया कि एसबीआई तथा एक अन्य बैंक में उनके दो सेविंग अकाउंट हैं। शुक्रवार की दोपहर को उनके मोबाइल पर एक मैसेज आया था। जिसमें केवायसी अपडेट कराने अन्यथा अकाउंट को बंद करने की बात लिखी थी। फरियादी ने मैसेज में लिए नंबर पर कॉल कर संपर्क किया। आरोपी ने मुंबई स्थित एसबीआई की मैने ब्रांच का स्वयं को मैनेजर बताते हुए अमर श्रीवास्तव नाम बताया। जालसाज की बातों में आकर पीडि़त ने उसके द्वारा मांगी तमाम जानकारी दे दी। कुछ ही देर में उनके मोबाइल पर लगातार हजारों रुपए खातों से कटने के मैसेज आने लगे। वह कुछ समझ पाते इससे पहले ही 28 बार में 10.40 लाख रुपए निकाल लिए। पीडि़त ने बैंक में संपर्क कर खातों को बंद कराया और परिजनों के साथ थाना क्राइम ब्रांच में पहुंचकर मामले की शिकायत कर दी। शिकायत की जांच के बाद में बीती रात पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को मोबाइल नंबर के आधार पर पकडऩे का प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल जालसाज का नंबर बंद जा रहा है। जालसाज ने फरियादी के दोनों बैंक खातों से रकम निकाली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here