Home भोपाल कांगे्स की दबाव की राजनीति के बीच मृतका के मोबाइल उगल रहे...

कांगे्स की दबाव की राजनीति के बीच मृतका के मोबाइल उगल रहे सिंघार के खिलाफ सबूत

11
0

गैजेट्स से मिले सबूतों के आधार पर आरोप सिद्ध करने का प्रयास
भोपाल।
कांग्रेस के विधायक व प्रदेश के पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के खिलाफ महिला मित्र सोनिया भारद्वाज की आत्महत्या के मामले में पुलिस जल्द शिकंजा कसने की तैयारी में है। इधर उमंग सिंघार के बचाव में प्रदेश की पूरी कांगे्रस उतर आई है। गुरुवार को प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष ने पूर्व मंत्रियों व विधायकों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई और प्रदेश सरकार को धमकी दी कि उनके पास भी हनीट्रैप की पेनड्रइव है। वहीं सोनिया भारद्वाज का बेटा आर्यन भी पुलिस से मांग कर चुका है कि उसने ऐसा कोई बयान नहीं दिया, जिसके आधार पर उमंग सिंघार के खिलाफ प्रकरण दर्ज हो सके। आर्यन ने पुलिस ने मांग की है कि सिंघार के खिलाफ दर्ज प्रकरण वापस लिया जाए। ऐसे में पुलिस को शक है कि आर्यन व उसकी नानी अदालत में उमंग सिंघार के खिलाफ गवाही नहीं देंगी।
सबूत ही बनेगा सहारा
मृतका के परिजनों के बयान में पलटने की स्थिति में उमंग सिंघार के खिलाफ आरोप सिद्ध करने के लिए अदालत में ठोस सबूत चाहिए। पुलिस यही ठोस सबूत जुटाने के लिए मृतका सोनिया भारद्वाज के दोनों मोबाइल व अन्य गैजेट्स जब्त कर साइबर सेल को जांच के लिए भेजा है। बताया जाता है कि सोनिया भारद्वाज के मोबाइल में कई वीडियो, ऑडियो और वाट्सएप चैट मिले हैं, जिसके आधार पर सिंघार की सोनिया से करीबी रिश्ते और शादी से मुकरने पर आत्महत्या को मजबूर होने के प्रमाण मिलते हैं। पुलिस सूत्र बताते हैं पुलिस के हाथ जांच में कई ऐसे सबूत हाथ लग भी गए हैं, जिनके आधार पर पुलिस अदालत में उमंग सिंघार के खिलाफ दर्ज प्रकरण को सिद्ध कर देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here