Home मध्यप्रदेश मप्र में राज्यपाल के अभिभाषण के बाद बजट सत्र शुरू हुआ, गिरीश...

मप्र में राज्यपाल के अभिभाषण के बाद बजट सत्र शुरू हुआ, गिरीश गौतम बने विधानसभा अध्यक्ष

19
0

प्रदेश में आज राज्यपाल आदिबेन पटेल के अभिभाषण के साथ बजट सत्र की शुरुआत हुई। जिसमें उन्होंने राज्य सरकार की पिछले एक साल की उपलब्धियों का उल्लेख किया। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार, 23 फरवरी सुबह 11.00 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष के चयन की प्रक्रिया पूरी की गई। भाजपा विधायक गिरीश गौतम निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए।
कांग्रेस ने नहीं उतारा प्रत्याशी – बजट सत्र की शुरुआत में सबसे पहले प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू कराई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन ने भाजपा विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बनाने जाने का प्रस्ताव रखा। इसका समर्थन गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया। कांग्रेस की तरफ से इस पद के लिए किसी भी विधायक ने नामांकन दाखिल नहीं किया। ऐसे में गौतम विधानसभा के निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। नवनिर्वाचित विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा कि मैं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डा. सीतासरन शर्मा और एनपी प्रजापति को अपना मार्गदर्शक मानूंगा

कोरोना काल में बेहतर काम किया –
इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण हुआ। उन्होंने अभिभाषण में कहा कि मेरी राज्य सरकार ने कोरोना काल में बेहतर काम किया है। इस चुनौती का बेहतर तरीके से सामना किया। पीपीई किट, टेस्टिंग किट और अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के लिए बेड का प्रबंधन समय रहते किया। फ्रंट लाइन वर्कर्स और कोरोना योद्धाओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर जी-जान से काम किया। मजदूर सहायता योजना शुरू की गई। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप लागू किया।

ओंकारेश्वर में विश्व की सबसे बड़ी बिजली योजना –

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से आगे बढ़ रहा है। 11 महीने पहले शुरू हुए कोरोना काल मे मेरी सरकार में आर्थिक परेशानी के बाद भी तेजी से काम किया। कोरोना होने के बाद भी सरकार ने जनहित में तेजी से काम किए। राज्य सरकार ने 1 लाख 85 हजार प्रवासी मजदूर की मदद के लिए उनके खाते में पैसे डाले गए। 51 हजार से ज्यादा लोगों का राजमिस्त्री के ट्रेनिंग दी गई है। सहकारी बैंकों को लगभग 800 करोड़ रुपये की सहायता दी गई है। ओंकारेश्वर में विश्व की सबसे बड़ी बिजली योजना को लेकर विश्व बैंक के द्वारा सर्वे किया रहा है। राज्य सरकार ने वर्ष 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचित करने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश के 20 जिलों में स्वामित्व योजना के तहत काम शुरू हो चुका है। प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में 10 गुना वृद्धि हुई है। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम में सदन की कार्यवाही मंगलवार को सुबह 11.00 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

कोरोना काल में बेहतर काम किया –
इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण हुआ। उन्होंने अभिभाषण में कहा कि मेरी राज्य सरकार ने कोरोना काल में बेहतर काम किया है। इस चुनौती का बेहतर तरीके से सामना किया। पीपीई किट, टेस्टिंग किट और अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के लिए बेड का प्रबंधन समय रहते किया। फ्रंट लाइन वर्कर्स और कोरोना योद्धाओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर जी-जान से काम किया। मजदूर सहायता योजना शुरू की गई। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप लागू किया।

ओंकारेश्वर में विश्व की सबसे बड़ी बिजली योजना –

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से आगे बढ़ रहा है। 11 महीने पहले शुरू हुए कोरोना काल मे मेरी सरकार में आर्थिक परेशानी के बाद भी तेजी से काम किया। कोरोना होने के बाद भी सरकार ने जनहित में तेजी से काम किए। राज्य सरकार ने 1 लाख 85 हजार प्रवासी मजदूर की मदद के लिए उनके खाते में पैसे डाले गए। 51 हजार से ज्यादा लोगों का राजमिस्त्री के ट्रेनिंग दी गई है। सहकारी बैंकों को लगभग 800 करोड़ रुपये की सहायता दी गई है। ओंकारेश्वर में विश्व की सबसे बड़ी बिजली योजना को लेकर विश्व बैंक के द्वारा सर्वे किया रहा है। राज्य सरकार ने वर्ष 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचित करने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश के 20 जिलों में स्वामित्व योजना के तहत काम शुरू हो चुका है। प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में 10 गुना वृद्धि हुई है। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम में सदन की कार्यवाही मंगलवार को सुबह 11.00 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here