Home इंदौर बड़ी राहत: ब्लैक फंगस के इलाज के लिए 12,240 एंफोटेरइसिन-बी इंजेक्शन पहुंचे...

बड़ी राहत: ब्लैक फंगस के इलाज के लिए 12,240 एंफोटेरइसिन-बी इंजेक्शन पहुंचे इंदौर

15
0

सात हजार इंजेक्शन निजी और बाकी सरकारी अस्पतालों को भेजे जा रहे
भोपाल।
कोरोना की दूसरी लहर को काबू में करने के बाद राज्य सरकार वर्तमान में कोरोना मरीजों को होने वाले ब्लैक फंगस नाम की बीमारी से लड़ रही है। ब्लैक फंगस के इलाज के लिए जरूरी एंफोटेरइसिन-बी इंजेक्शन की बड़ी खेप मध्यप्रदेश पहुंच गई है। नई दिल्ली से चार्टर्ड विमान से यह इंजेक्शन इंदौर विमान तल पर पहुंचे हैं। इंजेक्शन को रिसीव करने के लिए प्रदेश के जलसंसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, इंदौर संभागायुक्त पवन शर्मा और एकेवीएन इंदौर के एमडी डॉ. रोहन सक्सेना एयरपोर्ट पर मौजूद रहे। आने वाले दिनों में इतने ही और इंजेक्शन इंदौर को मिलने वाले हैं।

एंफोटेरइसिन-बी की यह बड़ी खेप इंदौर पहुंचने के बाद करीब सात हजार इंजेक्शन निजी अस्पतालों को ब्लैक फंगस के भर्ती मरीजों के लिए दिए जा रहे हैं, वहीं पांच हजार से अधिक इंजेक्शन सरकारी अस्पतालों को मुहैया कराया जा रहा है। ज्ञात हो कि बीते कई दिनों से प्रदेश में उक्त इंजेक्शन की किल्लत महसूस की जा रही थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इंजेक्शन की आपूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए लगातार प्रयास कर रहे थे। इंजेक्शन मिलते ही चार्टर्ड विमान से उसे इंदौर लाया गया, ताकि इंजेक्शन पहुंचने में समय न लगे। ज्ञात हो कि कोरोना मरीजों के इलाज के लिए जरूरी रेमडेसिसिर इंजेक्शन को भी प्रदेश सरकार ने सरकारी और निजी विमानों के जरिए दूसरे प्रदेशों से मंगवाकर संभाग स्तर पर पहुंचवाए थे।

गौरतलब है कि कोरोना मरीजों के लिए इस बार हवाई सेवा की मदद ली गई है। कोरोना के मरीजों के लिए जरूरी रेमडेसिविर के इंजेक्शन भी लाए गए थे। इसके अलावा जब मरीजों के लिए आक्सीजन की जरूरत पडी थी। तो सेना के विमानों की मदद ली गई और सेना के सबसे बडे मालवाहक ग्लोबमास्टर सी 17 विमान से इंदौर से आक्सीजन के खाली टेंकर जामनगर और दूसरे आक्सीजन प्लांट पर भेजे गए थे। कई दिनों तक यह सिलसिला चलता रहा था। अब ब्लैक फंगस के इंजेक्शन की आपूर्ति में भी इसकी मदद ली जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here