Home भोपाल जो आलू से सोना बनने की बात करे उसकी जासूसी ...

जो आलू से सोना बनने की बात करे उसकी जासूसी भाजपा क्यों करेगी, यह अंतर्राष्ट्रीय साजिश: शिवराज

14
0
  • पेगासस जासूसी मामले में मुख्यमंत्री का विपक्ष पर हमला
  • जासूसी कराने का इतिहास कांग्रेस का रहा
  • भारत को बदनाम करने रची झूठी कहानी

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

पेगासर प्रोजेक्ट के माध्यम से देश के नामचीन लोगो की कथित जासूसी मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को विपक्ष पर करारा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जासूसी का इतिहास तो कांग्रेस और उसकी संप्रग सरकार का रहा। उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि वह कहते हैं आलू से सोना बनता है। ऐसे नेता की फ ोन टैपिंग करवा कर हम क्या करेंगे? यह भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की अंतर्राष्ट्रीय साजिश है।

श्री चौहान ने उक्त बातें मंगलवार को अपने निवास पर आयोजित पे्रस कांफे्रंस में कही। उन्होंने जासूसी के इस कथित मामले को विपक्ष की घिनौनी साजिश बताते हुए कहा कि यह ऐसे समय उठाया गया जब संसद का सत्र शुरू हुआ। उन्होंने कहा कि कुछ विदेशी ताकतें व कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बढ़ती लोकप्रियता को पचा नहीं पा रही है। इसके चलते भारत को बदनाम करने की यह साजिश रची गई। यह समूचा मामला झूठ पर रची गई कहानी है। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस की राजनीतिक ताकत शून्य हो गई है। उसकी जासूसी करके हम(भाजपा) क्या करेंगे।

कांग्रेस जासूसों से भरी पार्टी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा- इतिहास गवाह है कि कांग्रेस जासूसों से भरी पार्टी है। तत्कालीन यूपीए सरकार में 9 हजार फ ोन कॉल टेप किए गए थे। उसने अपने ही नेताओं की जासूसी कराई। कांग्रेस ने जासूसी करके ना केवल देश, बल्कि खुद अपनी ही पार्टी को कमजोर किया है।

ल बहादुर शास्त्री की जासूसी इंदिरा गांधी ने कराई। इसके बाद सोनिया गांधी ने पीवी नरसिम्हा राव ,सीताराम केसरी की जासूसी कराई। अब राहुल और प्रियंका में भी जासूसी का डीएनए है। दोनों अब कांग्रेस में जी- 23 के नेताओं को निपटाने में लगे हुए हैं। मध्यप्रदेश में भी कमलनाथ को निपटाने का काम दिग्विजय सिंह ने किया।

भारत की छबि खराब करने की साजिश

श्री चौहान ने कहा कि संसद का यह सत्र बहुत महत्वपूर्ण है। गरीब और पिछड़ों को मंत्री पद दिया गया। उनका परिचय संसद में होना था। विपक्ष को यह रास नहीं आया, इसलिए संसद शुरू होने से एक दिन पहले इस मामले को लाया गया। संसद को शोरगुल का ठिकाना बना लिया गया है।

विपक्ष लगातार देश के खिलाफ साजिश कर रहा है। वह भारत की छवि को खराब करने का काम कर रहा है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। जब भी देश में कुछ महत्वपूर्ण होना होता है, विपक्ष भारत के खिलाफ माहौल बनाता है और साजिश का हिस्सा बनता है।

Previous articleदुनिया के सबसे रईस इंसान की पहली अंतरिक्ष यात्रा, इतिहास के पन्नों में दर्ज हुई उड़ान
Next articleराज्य मंत्रिपरिषद का फैसला: छतरपुर में कोयले की जगह अब लगेगा सौर ऊर्जा संयंत्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here