Home भोपाल मौसम : ग्वालियर, चंबल में भारी बारिश का रेड अलर्ट

मौसम : ग्वालियर, चंबल में भारी बारिश का रेड अलर्ट

49
0
  • भोपाल, उज्जैन संभाग सहित छतरपुर, टीकमगढ़, सागर में भी झमाझम के आसार
  • अनवरत बारिश से नदी, नाले और तालाब हुए ओव्हर फ्लो

भोपाल। भोपाल सहित मध्य प्रदेश के अनेक इलाकों में झमाझम बारिश का सिलसिला जारी है। अगले चौबीस घंटों में भी बारिश से राहत मिलने की उम्‍मीद नहीं है। मौसम विभाग ने ग्वालियर और चंबल संभाग में अत्यधिक बारिश की आशंका जाहिर करते हुए रेड अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले चौबीस घंटों में ग्‍वालियर, चंबल संभाग में 115.6 मिमी से लेकर 204.5 मिमी या उससे अधिक बारिश हो सकती है। वहीं भोपाल और उज्जैन संभाग सहित छतरपुर, टीकमगढ़, सागर, निवाड़ी और होशंगाबाद जिले में भी गरज-चमक के साथ बौछारें पडने की संभावना है। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए अगले चौबीस घंटों में 64.5 मिलीमीटर से लेकर 204.4 मिलीमीटर बारिश की संभावना जताई है। आगामी तीन दिनों तक बारिश का दौर यूं ही चलता रहेगा।

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में गहरा कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश के मध्य में सक्रिय है। हरियाणा और उसके आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अतिरिक्त मानसून ट्रफ भी उत्तरप्रदेश से होकर गुजर रहा है। हवा का रुख भी लगातार दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। इस वजह से बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से लगातार नमी आ रही है। इससे बारिश हो रही है। शुक्ला के मुताबिक वेदर सिस्टम के उत्तर प्रदेश में सक्रिय रहने से इस प्रदेश से लगे मप्र के जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा भी हो रही है। राजधानी में वातावरण में बड़े पैमाने पर आर्द्रता मौजूद रहने के कारण रिमझिम फुहारें पड़ रही हैं। हालांकि सोमवार को राजधानी में दिनभर बौछारें पड़ने की संभावना बन रही है।

गुना जिले के चारों ओर पानी ही पाली, जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

गुना। जिले में पिछले एक पखबाड़े से हो रही लगातार बारिश से अब जनजीवन अस्त-व्यस्त होने लगा है। जिले के चारों ओर पानी ही पानी होने से नदी, नाले और तालाब ओव्हर फ्लो हो गए हैं। वहीं रूठियाई स्थित गोपीकृष्ण सागर डेम के दो गेट खोल दिए गए हैं। इसी तरह रामपुर, सिंगवासा तालाब भी ओव्हर फ्लो होकर बहने लगे हैं। इधर जिला मुख्यालय पर ही गोपालपुरा तालाब का रख-रखाव नहीं होने से उसकी प्राकृतिक सुंदरता ढकी हुई है। जर्जर स्थिति होने से कई जगह पार पर दरारें भी पडऩे लगी हैं।

जिले में लगातार हो रही एक पखबाड़े की बारिश ने अब तक आधे से अधिक सामान्य वर्षा का 64.6 प्रतिशत कोटा पूरा हो गया है। इसके चलते रविवार रात और सोमवार की अनवरत बारिश से सिंगवासा तालाब ओव्हर फ्लो हो गया है। इस कारण जहां से निकली शहर की गुनिया नदी ने भी रोद्र रूप धारण कर लिया जिस वजह से गुनिया किनारे बने कई घरों में भी पानी भर गया।

खास बात तो ये है कि गुनिया में पर लोगों और भूमाफियाओं के द्वारा किए गए अतिक्रमण से गुनिया की गहराई और चौड़ाई खत्म हो गई है। इस ओर प्रशासन ने आज तक ध्यान नहीं दिया। अब बारिश में उन्हीं लोगों को परेशान होना पड़ रहा है जो नदी किनारे मकानों को बनाकर रह रहे हैं। कई ग्रामीण क्षेत्रों में भी मकान गिरने की खबर मिली हैं। जिनकी प्रशासन स्तर पर व्यवस्था की जा रही है। इधर बमौरी क्षेत्र के दर्शनिक स्थल केदारनाथ धाम में आलौकिक दृश्य देखने को मिल रहा है, यहां लोग बारिश के बावजूद भी शिवलिंग पर जलाभिषेक करने पहुंचे।

बारिश से मकान, पेड़, बिजली भी हुई धराशायी

जिलेभर में बनवरत बारिश से सोमवार को कई मकान, पेड़ गिरने के साथ-साथ लाईट के खंभे भी धराशायी हो गए हैं। इसके चलते रातभर से ही कई क्षेत्रों में लाईट गुल है। इधर सड़कों पर गिरे पेड़ों को भी हटाने का काम जारी है। इसी तरह शहर की श्रीराम कालोनी, रसीद कालोनी, बूढ़ेबालाजी और गुनिया किनारे आदि निचली बस्तियों में दर्जनभर कच्चे मकान धराशायी हो गए हैं। वहीं दूसरी ओर धरनावदा में दो विधानसभाओं राघौगढ़ और बोमोरी से सड़क सम्पर्क टूट गया है। यहां नदी के उफान पर आने से लोगों का आना-जाना फिलहाल पूर्णत: बंद है। इसके चलते राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

इनका कहना
हमारी डिवीजन में तालाबों को कोई नुकसान नही है। हम रोज वाटल लेवर को चेक करने और स्थिति को देखने पहुंच रहे हैं। अभी हमने मछली पकडऩे वालों को खदेड़ा है, जिन्होंने जाली लगा रखी थी। हम तो चाहते हैं कि तालाब हरा-भरा और सुंदर बना रहे, लेकिन इन दिनों झाडिय़ां काटने के बाद भी बार-बार पनप जाती हैं।
मुकेश जैन, सब इंजीनियर, जल संसाधन गुना।


नदी नाले उफान पर, शहर की वस्तियों में भरा पानी


अशोक नगर। जिले में पिछले पांच दिनों से निरंतर वारिश हो रही है जिससे अनेक गांव सड़क मार्ग से कट गए हैं विगत रोज कचनार, कदवाया, राजपुर एवं बहादुरपुर थाना क्षेत्र के अनेक गांवों का आवागमन बंद रहा जोरदार बारिश से नदी नाले उफान पर हैं जिससे शहर की अनेक वस्तियों में बरसात का पानी भरने से आवागमन बाधित हुआ हैै अशोक नगर की संकर कॉलोनी, नहर कॉलोनी, ऊर्जा कॉलोनी, दुर्गा कॉलोनी आदि क्षेत्रों में बरसात का जल भराव होने सेे लोगों की दिनचर्या प्रभावित हुई है तो वहीं जिला मुख्यालय से विभिन्न मार्गों पर चलने वाला आवागमन नदी नाले उफान पर होने के कारण रुका हुआ है।

Previous articleकार्यकर्ताओं ने की अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के साइनबोर्ड पर तोड़फोड़
Next articleटापू बने दो दर्जन से अधिक गांव, लोगों को बचाने सेना के हेलीकॉप्टर लगाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here