Home भोपाल दावा था पोर्टल से मिलेगी खाली बिस्तरों की जानकारी, हकीकत- सिर्फ अस्पतालों...

दावा था पोर्टल से मिलेगी खाली बिस्तरों की जानकारी, हकीकत- सिर्फ अस्पतालों की लिस्ट दिख रही

49
0
  • सार्थक पोर्टल पर जिन अस्पतालों की लिस्ट अपलोड अधिकांश डॉक्टर फोन ही नहीं उठाते

भोपाल। भोपाल सहित प्रदेश भर के अस्पतालों में भर्ती होने के लिए मरीज परेशान हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीते दिनों एक पोर्टल तैयार कर खाली और भरे बिस्तरों की जानकारी 24 घंटे में दो बार अपलोड करने के निर्देश दिए थे। सीएम के निर्देश पर अफसरों ने खानापूर्ति करते हुए सिर्फ सार्थक पोर्टल पर सरकारी और निजी अस्पतालों की सूची संचालकों के मोबाइल नंबर सहित अपलोड कर अपना फर्ज पूरा कर लिया। इससे मरीज लगातार बिस्तरों के लिए परेशान हो रहे हैं। कई दिनों तक सिर्फ ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड और वेंटिलेटर के लिए भटकना पड़ रहा है। डॉक्टरों की मानें तो समय पर सही इलाज न होने के कारण मौतों के मामले भी बढ़ रहे हैं।

सरकारी पोर्टल पर नहीं मिल रही जानकारी, सोशल मीडिया बना मदद का जरिया स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने सार्थक पोर्टल के जरिए आम लोगों को अस्पतालों में कोविड बेड ऑक्यूपेंसी की जानकारी मूहैया कराने का दावा किया था। लेकिन हकीकत ये है कि सोशल मीडिया फेसबुक, व्हाट्सएप पर बिस्तरों के लिए परेशान होते मरीजों के मैसेज भरे पड़े हैं। शहर के कई सोशल मीडिया गु्रप्स के संचालक अस्पतालों में बिस्तरों की स्थिति पता करके मदद कर रहे हैं।

भोपाल में 103 सरकारी व निजी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों का इलाज हो रहा है। इनमें से आधा दर्जन अस्पतालों ने अपनी रेट लिस्ट अपलोड नहीं की है।

Previous articleएक मिनट में हवा से दस लीटर ऑक्सीजन बनाने वाले ढाई हजार कंसंट्रेटर मप्र को जल्द मिलेंगे
Next articleजिला अस्पताल में सीटी स्कैन लगवाने शुरू हुआ अभियान, हफ्ते भर में 12 लाख जुटे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here