Home भोपाल धृतराष्ट्र न बनें सोनिया गांधी, हम देश में आग तो नहीं लगने...

धृतराष्ट्र न बनें सोनिया गांधी, हम देश में आग तो नहीं लगने देंगे: शिवराज

17
0
  • कमलनाथ के बयानों को लेकर प्रदेश में सियासी बवाल जारी
  • कमलनाथ के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज होने से कांग्रेस में उबाल

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

कोरोना वायरस को इंडियन वैरियंट बताए जाने के खिलाफ राजधानी भोपाल के क्राइम ब्रांच थाने में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज होने से प्रदेश कांग्रेस में उबाल आ गया है। कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने आज जगह-जगह इसे लेकर विरोध प्रदर्शन किया तो वहीं भारतीय जनता युवा मोर्चा ने भी उक्त बयानबाजी के विरोध में पूर्व मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। इधर,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक बार फिर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी से कहा है कि वह धृतराष्ट्र न बनें,भाजपा देश में आग तो नहीं लगने देगी।

मुख्यमंत्री सोमवार को सागर पहुंचे, लेकिन वहां जाने से पूर्व उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयानों को लेकर कांग्रेस पर एक बार फिर निशाना साधा। श्री चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती गांधी से पूछा कि खाद के दाम को लेकर देश में आग लगाने वाला बयान कमलनाथ ने आपकी सहमति से दिया या वह कमलनाथ के बयान से सहमत है। यदि नहीं तो ऐसे राष्ट्रविरोधी बयान देने पर उन्होंने अपने पार्टी नेता के खिलाफ क्या कार्रवाई की। श्री चौहान ने श्रीमती गांधी से कहा कि वह धृतराष्ट्र बनकर तमाशा न देखें। एक तरफ राज्य सरकार पीडि़त परिवारों की सेवा करते हुए जनता के सहयोग से कोविड-19 संक्रमण को नियंत्रित करने की कोशिश में लगी है। वहीं कांग्रेस देश में आग लगाने की तैयारी में लगी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे लिए राष्ट्र सर्वोपरि है और हम किसी भी कीमत पर देश में आग नहीं लगने देंगे।

मौत पर उत्सव मना रहे हैं कमलनाथ

मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ जवाब दें,इस समय जब साथ मिलकर लडऩे का है,आप मौत का उत्सव मना कर अराजकता फैला रहे हैं। कोरोना महामारी के खिलाफ एक तरह से यह युद्ध का समय है और ऐसे वक्त में प्रदेश के साथ खड़े होने की जगह आप कैसे भी अराजकता का तांडव हो इस प्रयास में लगे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री के बयान के खिलाफ भारतीय जनता युवा मोर्चा एवं भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी आज प्रदेशभर में जगह-जगह प्रदर्शन कर कमलनाथ का पुतला फूंका।

मैं चुप नहीं बैठूंगा: कमलनाथ

इधर, अपने खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज होने एवं भाजपा के आरोप पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि शिवराज सरकार चाहती है कि मै चुप रहूँ , जनता की आवाज़ ना उठाऊँ , उनके हक़ की लड़ाई ना लड़ूँ लेकिन मै चुप नहीं बैठूँगा , जीवन की आखऱी साँस तक जनता के हित की लड़ाई लड़ता रहूँगा , कोई एफ़ आईआर मुझे दबा नहीं सकती है।

कांग्रेस ने किया जगह-जगह प्रदर्शन

इधर, कांग्रेस नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ पार्टी प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज होने पर सोमवार को अनेक जगह प्रदर्शन कर विरोध जताया। वहीं पार्टी के सांसद विवेक तन्खा ने श्री नाथ के खिलाफ दर्ज प्रकरण को तकनीकी तौर पर गलत बताते हुए कहा कि हो सकता है,राज्य सरकार को इस मामले में मानहानि प्रकरण का सामना करना पड़े।

वहीं कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने राजधानी के एमपी नगर थाने में मुख्यमंत्री के खिलाफ एफ आईआर दर्ज करने लिखित आवेदन भी दिया। इसमें सरकार पर कोरोना महामारी से मृत लोगों के बारे में भ्रामक जानकारी देने का आरोप लगाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here