Home भोपाल 8 घंटे तक सतपुड़ा जलाशय के खुले सात गेट

8 घंटे तक सतपुड़ा जलाशय के खुले सात गेट

75
0
  • 17,350 क्यूसेक पर सेकंड पानी छोड़ा गया जलाशय से
  • रात 3 बजे से हो रही है मूसलाधार बारिश

सारनी। शनिवार सुबह तीन बजे से लगातार हो रही बारिश को देखते हुए सतपुड़ा जलाशय प्रबंधन के माध्यम से सतपुड़ा डेम के सात गेट तीन-तीन फीट पर शनिवार सुबह 6:20 बजे खोले गए हैं।सतपुड़ा जलालश से 17,350 क्यूसेक पानी पर सेकंड छोड़ा गया।शनिवार को सुबह 6:20 से लेकर दोपहर 2:30 तक लगातार सतपुड़ा जलाता के साथ गेट तीन-तीन फीट खुले रहे 2:30 बजे के बाद सतपुड़ा जलाशय का एक गेट एक फीट पर खोला गया था जो 850 क्यूसेक पर सेकंड पानी छोड़ रहा था।

24 घंटे में सारनी क्षेत्र के आसपास 62 एमएम बारिश दर्ज की गई है इस तरह 16 जून से लेकर 24 जुलाई तक 381 एमएम बारिश क्षेत्र में हो चुकी है।लगातार तेज बारिश होने की वजह से तवा नदी और उसकी सहयोगी नदी उफान पर चल रही है।गुरु पूर्णिमा के दिन लगातार बारिश होने की वजह से छोटे बड़े सभी नाले उफान पर चल रहे हैं जिसकी वजह से आवागमन प्रभावित हो रहा है।बताया जा रहा है कि सुखी नदी और मांचना उफान पर होने के कारण भोपाल से नागपुर की ओर जाने वाले लगभग सभी मार्ग बंद हो चुके हैं।पुनर्वास केम्प चोपना सहित अन्य गांवों का संपर्क सारनी से टूट गया है।

सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से सारनी अनुविभागीय पुलिस अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान सहित अन्य जिम्मेदार अधिकारियों की टोली नदी के आसपास वह गांव जहां पानी जा सकता है ऐसे गांव के लोगों को ऊंचाई पर पहुंचाने में जुटे हुए हैं एवं ऐसे लोग जिनका मकान क्षतिग्रस्त है जो बारिश में गिरने की संभावना है ऐसे लोगों को भी घर छोड़कर दूसरे स्थान पर जाने की सलाह दी जा रही है। जिला प्रबंध समिति के द्वारा बाढ़ से निपटने के पूरे इंतजाम किए जा चुके हैं अब देखना है कि जिला प्रशासन के सचेत रहने के बाद भी ग्रामीण क्षेत्र के लोग बाढ़ का शिकार होते हैं या नहीं। शनिवार को गुरु पूर्णिमा का पर्व होने की वजह से सुबह से रुक-रुक कर तेज हो रही बारिश की वजह से धार्मिक कार्यक्रमों में कई तरह के व्यवधान उत्पन्न होते रहे हैं।

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर नगर में हुई जोरदार झमाझम बारिश

खिलचीपुर। नगर में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर देर शाम को हल्की-फुल्की बारिश शुरू हुई जो जोरदार बारिश में तब्दील होकर झमाझम बारिश देर शाम खबर लिखे जाने तक होती रही जिससे उमस भरी गर्मी से लोगों ने राहत की सांस ली गत दिवस शुक्रवार को भी इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए नगर से लोगों ने बाहर धार्मिक स्थलों पर पहुंच कर खाना बनाया गया।

और भगवान से मन्नत फरियाद की गई

वही पुरानी मान्यताओं के अनुसार इंद्रदेव को रिझाने के लिए इस तरह के आयोजन किया जाता है पूरा आषाढ़ माह जुलाई का निकल जाने के बाद सावन आने से पहले मानसून एक बार फिर मेहरबान हो गया।ओर बारिश होने से किसान लोगों को राहत की सांस ली इससे फसलों का नया जीवन मिला है क्षेत्र में खाली पड़े खेतों में बोवनी हो सकेगी। 25 जुलाई से सावन महा का आगाज हो रहा है आषाढ़ का लगभग पूरा महा सुखा ही निकला है जिससे समय पर सोयाबीन सहित अन्य उपज पर फूल आ जाना चाहिए थे लेकिन उन पौधों की विधि रुकी हुई है। वहीं शनिवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर इंद्रदेव ने प्रसन्न होकर किसानों की फरियादो को सुन कर देर शाम को झमाझम बारिश की जो खबर लिखे जाने तक जारी थी।जिससे नगरवासी एवं क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर देखी गई।

तेज बारिश के बाद शहर के कई हिस्से हुए जलमग्न

छतरपुर। बीते तीन-चार दिनों से लगातार हो रही बारिश के बाद अब शहर के विभन्न हिस्सों में पानी भरने की खबरें सामने आ रही हैं। शनिवार को दोपहर करीब 1 बजे लगभग 40 मिनिट तक हुई तेज बारिश के बाद छत्रसाल चौक से अदालत की ओर जाने वाले मार्ग पर मेला ग्राउंड के समीप पानी भर गया जिससे स्थानीय दुकानदारों को परेशानी का सामना करना पड़ा।इसके अलावा फब्बारा चौक से चौक बाजार की ओर जाने वाले मार्ग पर स्थित नाला भी उफान पर रहा और आस-पास दुकान संचालित करने वाले लोगों को परेशानी से जूझना पड़ा। इसके अलावा शहर कई कॉलोनियां ऐसी हैं जहां अभी पक्की या सीसी सड़क के स्थान पर कच्च सड़कें हैं, बारिश के बाद यह कच्ची सड़कें कीचड़ में तब्दली हो गईं और लोगों आने-जाने में काफी परेशानी हुई।

बारिश में गिरा कच्चा मकान, रतजगा कर रहा परिवार

ग्राम पंचायत बमीठा अंतर्गत ग्राम गंगवाहा में बीते रोज हुई बारिश के दौरान पप्पू पुत्र छब्बी कुशवाहा का कच्चा मकान धराशायी हो गया। पप्पू ने बताया घर गिर जाने से उसका परिवार बेहद परेशान है। फिलहाल पूरा परिवार तिरपाल लगाकर बारिश से अपने आप को बचा रहा है। रात के समय बारिश होने पर पूरे परिवार को रतजगा करना पड़ रहा है साथ ही जहरीले कीड़ों का भय भी बना हुआ है। परिवार ने शासन-प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। शनिवार को बमीठा भाजपा मंडल के महामंत्री रामजी उपाध्याय परिवार से मुलाकात करने पहुंचे और उन्होंने परिवार को जल्द से जल्द मदद दिलाने का भरोसा दिया।

Previous articleआकाशीय बिजली का कहर, 6 की मौत, 9 घायल
Next articleटोक्यो में भारत की चांदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here