Home भोपाल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अब भूमि प्रदूषण रोकने की दिशा में काम करेगा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अब भूमि प्रदूषण रोकने की दिशा में काम करेगा

29
0
  • भूमि सुपोषण अभियान के प्रथम चरण में प्रान्त स्तर की बैठक संपन्न


भोपाल।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से एक नए भूमि सुपोषण अभियान की शुरुआत करेगा। खेती की भूमि में रासायनिक प्रयोग से उगने वाली फसलों पर पडऩे वाले प्रभाव पर आधारित भूमि सुपोषण अभियान के जरिए भूमि सुधार के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। देश में पर्यावरण संरक्षण, कुटुम्ब प्रबोधन और सामाजिक समरसता के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अब भूमि प्रदूषण रोकने की दिशा में काम करेगा। आज भोपाल में भूमि सुपोषण अभियान के प्रथम चरण में प्रान्त स्तर की बैठक संपन्न हुई जिसमें गायत्री परिवार, राम कृष्ण मिशन, पतंजलि, ग्राम भारती, विद्याभारती, विश्व हिन्दू परिषद्, स्वदेशी जागरण मंच, संघ की ग्राम विकाश, गौसेवा, पर्यावरण गतिविधि के प्रान्त स्तर के कार्यकर्ता उपस्थित रहे। बैठक में मध्यभारत प्रान्त संघचालक अशोक पाण्डेय, प्रचारक प्रमुख अशोक पोरवाल, प्रान्त प्रचारक स्वप्निल कुलकर्णी, प्रान्त ग्राम विकास संयोजक ब्रजकिशोर भार्गव, अन्य संघठन के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। इसके लिए संघ की ओर से वर्ष प्रतिपदा पर भूमि सुपोषण महाअभियान शुरू किया जाएगा। देशभर में उपखंड-गांव स्तर पर 13 अप्रैल को सुबह दस बजे एक साथ यह जनजागरण महाअभियान शुरू होगा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देश में राष्ट्रवाद के साथ-साथ लोगों से सीधे-सीधे जुड़े विषय हाथ में ले रहा है। संघ ने पर्यावरण संरक्षण, कुटुम्ब प्रबोधन, सामाजिक समरसता पर काम किया। बैंग्लूरू में हुई अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में निर्णय लिया गया कि देश में प्रदूषित जल, रासायनिकों के उपयोग, सिंगल यूज प्लास्टिक सहित विभिन्न कारणों से भूमि जहरीली हो रही है। जमीन कुपोषित होकर खराब हो रही है, जिससे उत्पन्न होने वाले अन्न की गुणवत्ता भी प्रभावित हो रही है। यह सीधे-सीधे लोगों को प्रभावित कर रहा है। ऐसे में संघ ने इसे ठीक करने के लिए अभियान शुरू करने निर्णय लिया।

ग्राम विकास पर है संघ दृष्टि

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने नजर ग्राम विकास पर है। फिलहाल संघ की ओर से गौ आधारित खेती, जलस्रोत बढ़ाने, सामाजिक समरसता बढ़ाने के लिए एक कुआ एक श्मशान का कार्यक्रम शुरू किया हुआ है। करीब पांच हजार गांव में इस प्रकार के कार्यक्रम चल रहे हैं। अब भूमि की शुद्धि के लिए भूमि सुपोषण अभियान शुरू किया जा रहा है।

धार्मिक सामाजिक संस्थाओं का सहयोग

संघ के भूमि सुपोषण अभियान में गायत्री परिवार, ईशा फाउंडेशन, रामकृष्ण मिशन, पतंजली योग पीठ जैसी धार्मिक सामाजिक संस्थाएं सहयोग करेगी। ये संस्थाएं पहले से ही पर्यावरण संरक्षण के काम में लगी हुई है। संघ ने वर्ष प्रतिपदा से अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here