Home भोपाल मप्र में कोरोना संक्रमण पर तेजी से नियंत्रण लेकिन अभी कर्फ्यू हटाने...

मप्र में कोरोना संक्रमण पर तेजी से नियंत्रण लेकिन अभी कर्फ्यू हटाने की स्थिति में नहीं : शिवराज

28
0

मुख्यमंत्री, केंद्रीय कृषि मंत्री ने ग्वालियर, चम्बल संभाग में की कोरोना मामलों की समीक्षा

* 11 % से नीचे आई मप्र में कोरोना संक्रमण दर
* सरकार ढील देने के पक्ष में नहीं, कई जगह कर्फ्यू को अवधि 1 से 2 सप्ताह तक बढ़ी

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से नियंत्रित हो रहा है। राज्य में इसकी दर 10.68 प्रतिशत हो गई है। वहीं कुछ जिलों में यह दर 5 प्रतिशत से नीचे है। बावजूद इसके सरकार महामारी की दूसरी लहर पर पूरी तरह नियंत्रण नहीं होने तक कोई ढील देने के पक्ष में नहीं है। इसके चलते भोपाल सहित विभिन्न जिलों में कोरोना कर्फ्यू की अवधि एक से दो सप्ताह तक बढ़ाई गई है। भोपाल में यह कर्फ्यू 24 मई तक तो ग्वालियर,चंबल संभाग में 30 मई तक बढ़ाया गया है।

रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर पहुंच कर उक्त दोनों ही संभागों के आपदा प्रबंधन समूहों के साथ कोरोना मामलों की समीक्षा की। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

श्री चौहान ने कहा कि ग्वालियर, चंबल संभाग में भी कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार हुआ है। अभी इस पर पूरी तरह नियंत्रण पाना है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में तेजी से कमी आई है, लेकिन अभी हम जनता कर्फ्यू हटाने की स्थिति में नहीं हैं।

ग्वालियर और मुरैना चंबल संभाग में हमने आपदा प्रबंधन समूह की सलाह पर 30 मई तक जनता कर्फ्यू बढ़ाने का फैसला किया है। श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण पूरी तरह समाप्त होने तक आपदा प्रबंधन समूह बने रहेंगे। उन्होंने समूह के सदस्यों से कहा कि आप सभी के सहयोग से हम कोरोना को हराएंगे।

भोपाल में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू

भोपाल जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए और आम नागरिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव एवं जन-सामान्य के स्वास्थ्य हित में 24 मई को सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ा दी गई है। कर्फ्यू की पूर्व घोषित अवधि कल सुबह 6 बजे ख़त्म हो रही है।

‘संक्रमण की चेन तोड़ने में मिली सफलता’

इससे पहले उन्होंने भोपाल में एक बयान में कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में किल कोरोना अभियान को मिल रहे जन-सहयोग से कोविड-19 संक्रमण की चेन तोड़ने में सफलता मिल रही है। बीते 24 घंटों के दौरान 7 हजार 106 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। करीब 12 हजार 345 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए हैं। रिकवरी दर आज 86.10 प्रतिशत रही है।

प्रदेशभर में 354 कोविड केयर सेंटर प्रारंभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किल कोरोना अभियान के अंतर्गत घर-घर सर्वे टीम पहुँच रही है। सर्दी-जुखाम और बुखार से पीड़ित मरीज अपने इन लक्षणों को छुपाये नहीं बल्कि बतायें, ताकि उनका समुचित इलाज किया जा सके, जिससे दवाइयों की किट उन्हें उपलब्ध कराई जा सके। इस समय रिकवरी दर अधिक है। प्रदेश के 52 जिलों में कुल 354 कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किए जा चुके हैं, जिसमें थोड़े लक्षण वाले रोगियों को रखा जा रहा है।

22 हजार बिस्तरों की व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड केयर सेंटर में वर्तमान में कुल 21 हजार 988 बेड्स हैं। इनमें से 3 हजार 240 ऑक्सीजन बेड्स स्थापित किए जा चुके हैं। बेड्स की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में अब तक कुल 22 हजार 404 संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर्स बनाए जा चुके हैं, जिसमें 2 लाख 69 हजार 309 से अधिक बेड्स स्थापित किए गए हैं।

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सभी कोविड केयर सेंटर्स और संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर्स में रहने वाले शत-प्रतिशत मरीजों को मेडिकल किट और हेल्थ ब्रोशर्स प्रदान किए जा रहे हैं। प्रदेश के सभी 313 विकासखंडों में और 50 हजार 546 ग्रामों में संकट प्रबंधन समूहों का गठन किया जा चुका है। शहरी क्षेत्र में 407 स्थानीय निकायों और 7 हजार 568 वार्ड में वार्ड स्तरीय संकट प्रबंधन समिति का गठन किया जा चुका है। जिलों में भाप केन्द्रों की व्यवस्था भी की गई है।

ब्लैक फंगस उपचार दवा के लिए किया केंद्र से आग्रह

मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्लैक फंगस के उपचार के लिये कम से कम 24 हजार एम्फोटेरिसिन बी-50 एमजी दवा प्रदेश को आवंटित करने हेतु केन्द्रीय राज्य मंत्री, रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय से अनुरोध किया गया है। राज्य सरकार अपने स्तर पर भी दवा व इंजेक्शन की वयस्था कर रही है।

जुलाई से पर्याप्त मात्रा में मिलेगी वैक्सीन: तोमर

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सभी राज्यों को जुलाई अगस्त से पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन मिलने लगेगी। इसका कोई संकट नहीं है। कोरो ना समीक्षा बैठक के बाद मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि बैठक में ग्वालियर में प्रस्तावित एक हजार बिस्तरों के अस्पताल की तैयारी को लेकर भी चर्चा हुई। यह अस्पताल जल्दी ही शुरू होगा।

उन्होंने कहा कि मप्र में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण की स्थिति संतोषजनक है। कांग्रेस द्वारा वैक्सीन विदेश में भेजने को लेकर उठाए गए सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व इतना नादान है कि देश हित से उसका कोई वास्ता नहीं। श्री तोमर ने कहा कि कांग्रेस को कुछ करना नहीं, पहले कुछ किया नहीं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here