Home भोपाल कोरोना संदिग्ध को भर्ती करने से मना नहीं कर सकेंगे आयुष्मान में...

कोरोना संदिग्ध को भर्ती करने से मना नहीं कर सकेंगे आयुष्मान में संबद्ध निजी अस्पताल

7
0
  • आयुष्मान योजना से कोरोना के संदिग्ध मरीजों के लिए 5-5 हजार के 4 पैकेज तय

भोपाल। पिछले महीने से कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। कोरोना मरीजों को अस्पतालों में बिस्तरों का संकट बढ़ रहा है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग लगातार बिस्तर बढ़ाने की कवायद में लगा हुआ है। आयुष्मान इम्पैनल निजी अस्पतालों में कोरोना संदिग्ध व संक्रमित मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। आयुष्मान भारत निरामयम सोसाइटी को निजी अस्पतालों की लगातार शिकायतें मिलने के बाद ये आदेश दिए गए हैं कि कोरोना संक्रमितों के अलावा यदि कोई संदिग्ध लक्षणों वाला मरीज आया तो उसे भर्ती कर जांच व उपचार करना होगा। संदिग्ध लक्षणों वाले मरीजों के लिए 5-5 हजार के चार पैकेज फिक्स किए गए हैं।

एक परिवार पर अधिकतम 5 हजार रुपए हो सकेगा खर्च

आयुष्मान भारत योजना मप्र के सीईओ सोमेश मिश्रा ने योजना से संबद्ध निजी अस्पतालों व प्रायवेट मेडिकल कॉलेजों को आदेश जारी कर ये निर्देश दिए हैं। कि आयुष्मान कार्ड धारी कोरोना के संदिग्ध मरीजों को इम्पैनल अस्पतालों में बिस्तर खाली न होने की बात कहकर इलाज करने के बजाए सरकारी अस्पतालों में रेफर किया जा रहा है। आयुष्मान में इम्पैनल अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 20 फीसदी बिस्तर आरक्षित किए गए हैं। इन अस्पतालों में संदिग्ध मरीजों को भर्ती कर उनकी आरटीपीसीआर जांच करानी होगी। इन मरीजों की जांचों सीटी स्कैन के लिए अधिकतम पांच हजार रूपए एक परिवार पर सालाना खर्च किए जा सकेंगे। रिपोर्ट निगेटिव आने पर भी पैकेज से अस्पताल इस राशि का क्लेम ले सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here