Home भोपाल सिंधिया के भोपाल दौरे से भाजपा में तेज हुई सियासी हलचल

सिंधिया के भोपाल दौरे से भाजपा में तेज हुई सियासी हलचल

11
0
  • बैठकों में चुनाव व नियुक्तियों को लेकर किया मंथन

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

राज्यसभा सांसद एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया चार दिवसीय प्रदेश प्रवास के पहले दिन भोपाल आए। उनके दौरे से राजधानी में सियासी हलचल तेज हो गई है। उन्होंने पार्टी कार्यालय में प्रमुख नेताओं के साथ बैठक की। बाद में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी मिले। इस मेल-मुलाकात का प्रमुख विषय निगम मंडलों में नियुक्तियों से लेकर प्रस्तावित उपचुनाव व नगरीय निकाय चुनाव को लेकर भी मंथन हुआ।

श्री सिंधिया तय समय दोपहर एक बजे भोपाल पहुंचे। विमानतल से वह पहले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा के निवास पर पहुंचे व दोपहर भोज में शामिल हुए। इस दौरान पार्टी के संगठन महामंत्री सुहास भगत एवं सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा भी मौजूद थे। भोजन के बहाने चारों नेताओं के ही बीच निगम मंडलों में नियुक्तियों से लेकर चुनाव को लेकर भी बातचीत हुई। सूत्रों के अनुसार श्री सिंधिया ने पूर्व मंत्री इमरती देवी, गिर्राज दंडोतिया, एंदल सिंह कंसाना को निगम-मंडल में स्थान दिए जाने पर चर्चा की।

इसके बाद श्री सिंधिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने उनके निवास पर पहुंचे। नेताद्वय के बीच करीब एक घंटे तक एकांत में चर्चा हुई। यहां भी विषय नियुक्तियों व चुनाव की रणनीति को लेकर ही रहा। गौरतलब है कि खंडवा लोकसभा के अलावा विधानसभा की तीन सीट पृथ्वीपुर, रैगांव और जोबट के उपचुनाव मानसून बाद होना हैं। साल के अंत तक नगरीय निकाय चुनाव के भी आसार हैं।

भाजपा में कोई मतभेद नहीं

इससे पहले सांसद सिंधिया ने मीडिया से चर्चा में कहा कि भाजपा में किसी व्यक्ति को कोई दबदबा नहीं होता, न ही किसी गुट की कोई पैठ होती है। यहां केवल संगठन काम करता है। उन्होंने कहा कि जैसा नड्डा जी ने कहा संगठन ही सेवा है, हमें उसी आधार पर आगे चलना है। जो इसे नहीं अपनाएगा वह ज्यादा लंबा नहीं चल सकता। भाजपा में कोई मतभेद नहीं है। यह अनुशासित पार्टी है और अनुशासन के आधार पर ही आगे चलती रहेगी। भाजपा मेरा घर है, इसलिए मैं सभी से मिलने आया हूं। केंद्रीय मंत्री बनने के सवाल पर कहा, मुझे जनसेवा और जनता के साथ जुड़ाव से मतलब है।

मेल-मिलाप में सभी विषयों पर चर्चा होती है

वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि जब नेताओं का मिलाप होता है तो कई मुद्दों पर चर्चाएं होती हैं। हर मुलाकात को डिप्लोमेसी नहीं बताना चाहिए। यह सामान्य मुलाकात है। प्रदेश कार्यसमिति पर चर्चा संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि हम सभी मिलजुलकर पार्टी को मजबूत बनाने का काम करेंगे। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अफवाह कांग्रेस की देन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here