Home भोपाल आधी रात से हमीदिया अस्पताल में आउटसोर्स कर्मचारी गए हड़ताल पर, व्यवस्थाएं...

आधी रात से हमीदिया अस्पताल में आउटसोर्स कर्मचारी गए हड़ताल पर, व्यवस्थाएं हुई प्रभावित

18
0
  • वार्ड बॉय के ड्यूटी पर न होने से 24 घंटे बाद मिल सके कोरोना मरीजों के शव

भोपाल। बेगमगंज निवासी अनिकेत जैन के पिता की शुक्रवार को हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई थी। शाम चार बजे डी ब्लॉक में मौत के बाद वे रात 8 बजे तक शव लेने भटकते रहे। आखिरकार उनसे सुबह शव ले जाने को कहा गया। शनिवार को जब सुबह 9 बजे वे अस्पताल में शव लेने दोबारा गए तो डॉक्टर इधर-उधर भटकाते रहे। करीब 1 बजे ये जवाब मिला कि कर्मचारियों की हड़ताल है। वार्ड बॉय काम पर लौटने वाले हैं तब शव मिलेगा। लगभग साढ़े तीन बजे उन्हें शव मिल सका।

दरअसल हमीदिया अस्पताल में शनिवार की रात 1 बजे आउटसोर्स पर काम कर रहे हैं वार्ड बॉय, सुरक्षा गार्ड और सफाई कर्मचारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल कर दी थी। बता दें कि हमीदिया में साफ-सफाई से लेकर सुरक्षा का जिम्मा यूडीएस कंपनी पर है। यहां 113 वार्ड बॉय, 174 सफाई कर्मचारी और 160 सुरक्षाकर्मी आउटसोर्स पर रखे गए हैं। अस्पताल प्रबंधन कंपनी को हर साल 1 करोड़ रुपए का भुगतान करती है।

अस्पताल में पसरी रहीं गंदगी

आउससोर्स कंपनी के कर्मचारियों द्वारा की गई हड़ताल के चलते अस्पताल परिसर में न तो साफ-सफाई हुई और न ही मरीजों को शिफ्ट किया गया। पटेल वार्ड, सर्जरी वार्ड, कोरोना वार्ड से लेकर कहीं भी साफ-सफाई नहीं हुई। यहां बड़ी संख्या में गंदगी का आलम बना रहा। लोग खुद अपने पलंग व आस-पास सफाई करते देखे गए।

गिड़गिड़ाते रहे परिजन

अस्पताल में इस समय कोरोना के 540 मरीज भर्ती हैं। इनमें से कई मरीज गंभीर हालत में हैं। इन मरीजों को उठाने से लेकर लिटाने तक का काम वार्ड बॉय करते हैं। खुद परिजन स्टेचर तलाशते रहे। जैसे-तैसे स्टेचर मिल भी गया तो समस्या धकाने को लेकर बनी रही।

10 घंटे बाद हड़ताल समाप्त

रात 1 बजे हड़ताल शुरू हुई जो दोपहर 12 बजे तक चली। इस दौरान मरीजों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। वार्ड बॉय नीरज कुमार ने बताया कि वार्ड बॉय, सुरक्षाकर्मी और सफाई कर्मी हर महीने 20 हजार वेतन की मांग कर रहे हैं जबकि आउटसोर्स कंपनी से अभी उनको सिर्फ 7 हजार रुपए मिलते हैं। आउटसोर्स कर्मचारियों की नाराजगी इस बात को लेकर भी है कि सरकारी वार्ड बॉय की कोरोना वार्ड में ड्यूटी नहीं लगाई जा रही है।

इनका कहना है

आउटसोर्स कंपनी के वार्ड बॉय और सफाईकर्मियों की कुछ मांगे हैं, इसलिए हड़ताल की थी, जो बाद में कंपनी के समझाइश के बाद काम पर वापस लौट आए। इससे मरीजों को परेशानी नहीं आने दी गई।
-डॉ. आईडी चौरसिया, अधीक्षक, हमीदिया अस्पताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here