Home भोपाल 31 मई तक जनता कर्फ्यू में कोई ढील नहीः शिवराज सिंह

31 मई तक जनता कर्फ्यू में कोई ढील नहीः शिवराज सिंह

13
0

* अभी नई लड़ाई ब्लैक फंगस और खून के थक्के जमने की बीमारी से
* उज्जैन में खोला जाएगा नया मेडिकल कॉलेज, बनेगें पोस्ट कोविड केयर सेन्टर
* प्रदेश में 5 जून तक होगी चने की खरीदी

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में निरंतर कमी आ रही है। कुछ जिलों में पाजीविटीरेट भी 5 प्रतिशत से कम हुई है,लेकिन कोरोना संक्रमण की श्रंृखला को तोडने आगामी 31 मई तक जनता कर्फ्यू में कोई ढील नहीं दी जाएगी।


श्री चौहान ने यह बात बुधवार को उज्जैन में कोरोना मामलों की संभागीय एवं रतलाम जिले की समीक्षा के दौरान कही। इस दौरान उन्होंने संभाग के आपदा प्रबंधन समूह के सदस्यों से भी चर्चा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हम कोरोना से जंग जीतने के निर्णायक दौर में पहुंच गये हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़ रही है। वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण के बाद ब्लैक फंगस और खून के थक्के जमने के कई प्रकरण सामने आये हैं।

हमें अब इस नये संकट से भी लड़ाई लड़नी है। इसे देखते हुए कोरोना संक्रमण की चेन को पूरी तरह तोड़ना बेहद जरुरी है। इसे देखते हुए अभी 12-13 दिन और जनता कर्फ्यू जारी रहेगा। 31 मई के बाद स्थिति सामान्य होने पर इसे हटाने पर विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के कलेक्टर एवं क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से कहा कि आगे और विशेष सतर्कता बरतने की जरुरत है।


उज्जैन में खुलेगा मेडिकल काॅलेज, जिलों में बनेगें पोस्ट कोविड केयर सेन्टर


समीक्षा के दौरान जनप्रतिनिधियों की मांग पर मुख्यमंत्री ने उज्जैन में नया मेडिकल काॅलेज खोले जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि हर जिले में एक-एक पोस्ट कोविड केयर सेन्टर बनाया जायेगा ।

21 साल तक के अनाथ बच्चों को दी जाएगी पेंशन


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए मुख्यमंत्री कल्याण योजना शुरू की है। ऐसे अनाथ हुए बच्चों को योजनान्तर्गत 5 हजार रुपए की मासिक पेंशन दी जाएगी। शून्य से 21 वर्ष तक की आयु के बच्चे इसके लिए पात्र होंगे। संबंधित बच्चों को 21 वर्ष की आयु तक ही यह पेंशन प्राप्त होगी।

उन्होंने संबंधित जिलों के कलेक्टर्स एवं आपदा प्रबंधन समूह के सदस्यों से ऐसे बच्चों की सूची शीघ्र ही शासन को भेजने के लिए कहा। श्री चौहान ने कहा कि ऐसे बच्चों को मासिक पेंशन के साथ ही उन्हें निःशुल्क राशन भी दिया जाएगा और उनकी शिक्षा का खर्च भी शासन वहन करेगी। श्री चौहान ने मंदसौर जिले द्वारा किये गये नवाचार की प्रशंसा करते हुए सभी जिले के कलेक्टर को निर्देश दिये कि वे कोरोना से अनाथ हो चुके बच्चों के घर जाकर उनसे मुलाकात करें।


बनाये जायें माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में जहां प्रकरण अधिक हों, वहां माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र बनाये जायें। कोरोना संक्रमण को ढूंढकर वहीं समाप्त करें। मुख्यमंत्री ने सभी जिलों में कोरोना मामलों की जांच बढ़ाने , छोटे घर वाले होम आइसोलेट मरीजों को आइसोलेशन सेंटर्स में भर्ती करने,कोरोना की तीसरी लहर की सम्भावना को ध्यान में रखते हुए बच्चों के लिए विशेष वार्ड बनाने एवं जरुरी संसाधनों की व्यवस्था करने, पंचायतों को कोरोना मुक्त करने अभियान चलाने एवं किल कोरोना अभियान को निरंतर जारी रखने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि आने वाले समय में चिकित्सक एवं अन्य नर्सिंग स्टाॅफ की कोई कमी नहीं होगी।


श्रमिकों, एसएचजी के खातों में शीघ्र जमा होगी राशि

मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में ग्रामीण पथ कर विक्रेताओं के खातों में राशि पहुँचाई गई है। शीघ्र ही निर्माण श्रमिकों एवं स्व-सहायता समूहों के खातों में भी राशि पहुंचाई जायेगी।


5 जून तक होगी चने की खरीदी

श्री चौहान ने उज्जैन जाने से पूर्व कहा कि प्रदेश में चना की खरीदी आगामी 5 जून तक होगी। पहले यह तिथि 15 मई तय की गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में किसी भी किसान का चना समर्थन मूल्य से नीचे नहीं बिकने देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here