Home भोपाल ‘मेरा मास्क मेरी सुरक्षा’ कार्यक्रम: मंत्री के सामने रो पड़ी छात्रा, कहा-...

‘मेरा मास्क मेरी सुरक्षा’ कार्यक्रम: मंत्री के सामने रो पड़ी छात्रा, कहा- जनरल प्रमोशन देने के बाद कर दिया फेल

39
0

भोपाल। राजधानी भोपाल के शिवाजी नगर में स्थित सरोजिनी नायडू कन्या महाविद्यालय (नूतन कॉलेज) में आयोजित ‘मेरा मास्क मेरी सुरक्षा’ कार्यक्रम में उस वक्त सन्नाटा छा गया, जब एक छात्रा उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव से बात करते हुए रो पड़ी। छात्रा ने मंत्री को बताया कि पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण सभी विधार्थियों को जनरल प्रमोशन दिया गया था। ऑनलाइन सूची में उसका नाम भी सेकंड ईयर के लिए प्रमोट किया गया। उसने सेकंड ईयर की फीस भी जमा कर दी है, लेकिन अब फीस लौटाते हुए दोबारा फर्स्‍ट ईयर क्लियर करने को कहा जा रहा है। उसने रोते हुए कहा- सर, आप मैडम से बोलेंगे तो मेरा साल बर्बाद होने से बच सकता है।

यह मामला बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा संजू मालवीय का है। छात्रा ने बताया कि कोरोना के कारण वह अपने गांव में थी। 31 दिसंबर तक सभी छात्राओं को असाइनमेंट जमा करना था, लेकिन गांव में होने के कारण उसे जानकारी नहीं मिल सकी। जब वह जनवरी में असाइनमेंट जमा करने पहुंची तो असाइनमेंट तो जमा कर लिया गया, लेकिन बाद में देरी से असाइनमेंट जमा करने का बोलते हुए उसे फेल कर दिया गया। इस संबंध में कॉलेज प्राचार्य प्रतिभा सिंह से बात की गई तो उन्होंने मार्च में एक और मौका देने की बात कही थी, लेकिन अब उन्होंने साफ इंकार कर दिया।

बोले उच्‍च शिक्षा मंत्री, मास्क से हमें करोना को हराना है

कोरोना संकट के बीच आमजन को संवेदनशील बनाने के लिए ‘मेरा मास्क, मेरी सुरक्षा’ अभियान के शुभारंभ के अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव नूतन कॉलेज पहुंचे। उन्होंने कहा कि एक साल पहले हमारे बीच एक ऐसी अनजान बीमार आ गई थी, जिसके बारे में न कभी सोचा था, न सुना था। एक साल होने के बाद भी हम इस बीमारी की गिरफ्त से दूर नहीं हो सके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रयासों से काफी हद तक सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन और मास्क लगाकर हमें कोरोना को हराना है। इस मौके पर दो मिनट का मौन भी रखा गया। इसके बाद मंत्री ने कॉलेज में चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया।

मंत्री के जाते ही हटा मास्क

मंत्री के आने से पहले कॉलेज परिसर में छात्राएं समूह बनाकर खड़ी थीं। कई छात्राएं ऐसी थीं, जो या तो मास्क पहने ही नहीं थीं या फिर मास्क गले में लटका रखा था। मंत्री के आते ही सभी छात्राएं मास्क पहनकर कॉलेज परिसर में बनाए गोले में कतारबद्ध खड़ी हो गईं, लेकिन मंत्री के जाते ही छात्राएं फिर मास्क हटाकर गपशप करती हुईं नजर आईं।

Previous articleमहाराष्ट्र में नहीं संभल रहे हालात, अब इस जिले में लगाना पड़ा लॉकडाउन
Next articleबाइडन प्रशासन ने एच1बी वीजा कामगारों के वेतन निर्धारण का काम डेढ़ वर्ष के लिए टाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here