Home भोपाल मध्यप्रदेश ने खरीदा 111 लाख टन गेहूं, रिकॉर्ड तोड़ने के लिए 18...

मध्यप्रदेश ने खरीदा 111 लाख टन गेहूं, रिकॉर्ड तोड़ने के लिए 18 लाख टन की दरकार

13
0

भोपाल। तमाम आशंकाओं के बीच मध्यप्रदेश सरकार अब तक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 111 लाख टन गेहूं खरीद चुकी है। 18 लाख टन गेहूं की खरीद और होने पर अब तक की सर्वाधिक खरीद 129 लाख टन का रिकॉर्ड टूट जाएगा। वहीं, इस बार पंजाब ने 132.10 लाख टन खरीद करके मध्य प्रदेश का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इंदौर और उज्जैन संभाग में खरीद का काम पूरा हो गया है। बाकी संभागों में 25 मई तक खरीद चलेगी। 14.70 लाख किसानों से खरीद की जा चुकी है और 16 हजार 700 करोड़ रूपये से अधिक का भुगतान बैंक खातों में हो चुका है।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने संभावना जताई है कि प्रदेश अपने पिछले साल के खरीद के रिकॉर्ड को तोड़ देगा। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अग्रिम बधाई भी दे दी है। कोरोना संकट की वजह से प्रदेश की मंडियां बंद हैं। निजी स्तर पर व्यापारी भी सीमित खरीद कर रहे हैं। ऐसे में सरकार द्वारा की जा रही समर्थन मूल्य पर खरीद किसानों के लिए बड़ा सहारा बनी है। लगातार हो रही आवक को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खरीद की अंतिम तारीख बढ़ाकर 25 मई कर दी है।

गेहूं भरने के लिए गए प्लास्टिक बैग और बुलवा

नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों ने बताया कि भोपाल और जबलपुर संभाग में खरीद का काम तेजी के साथ चल रहा है। 10 से 17 अप्रैल के बीच जहां 28.8 लाख टन गेहूं खरीदा गया था, वहीं 19 से 24 अप्रैल के बीच 23 लाख टन, 26 अप्रैल से एक मई के बीच 22 लाख टन, तीन से आठ मई तक 21 लाख और 10 से 15 मई तक 15.6 लाख टन गेहूं खरीदा गया। पिछले दिनों केंद्र सरकार ने 10 फीसद तक चमकविहीन गेहूं खरीदने की अनुमति भी दे दी है। ऐसे में खरीद और बढ़ सकती है। इसके मद्देनजर साढ़े 12 लाख टन गेहूं भरने के लिए प्लास्टिक बैग और बुलवा लिए गए हैं।

हरियाणा में 83 लाख टन गेहूं खरीदा गया

निगम के प्रबंध संचालक अभिजीत अग्रवाल का कहना है कि अगले सााह उपार्जन केंद्र में होने वाली आवक के आधार पर तय होगा कि पिछले साल का रिकॉर्ड टूटेगा या नहीं। देश में दूसरे स्थान पर मध्य प्रदेश समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद को देखें तो मध्य प्रदेश देश में अभी दूसरे स्थान पर है। 132.10 लाख टन गेहूं खरीदकर पंजाब पहले स्थान पर है। वहां खरीद बंद हो चुकी है।

मध्य प्रदेश में 111 लाख टन गेहूं खरीदा जा चुका है। हरियाणा में 83 लाख टन गेहूं खरीदा गया है। 95 फीसद से ज्यादा गेहूं का परिवहन विभागीय अधिकारियों ने बताया कि इस बार गेहूं की खरीद के साथ-साथ सुरक्षित भंडारण का प्रबंध भी किया गया है। इसके लिए परिवहन व्यवस्था को नए सिरे से बनाया गया। इसकी वजह से अब तक 105.52 टन गेहूं का उपार्जन केंद्रों से परिवहन हो चुका है, जो कुल खरीद का 95 प्रतिशत से अधिक होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here