Home भोपाल लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कल : मुख्यमंत्री साढ़े इक्कीस हजार ‘बेटियों’ को देंगे...

लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कल : मुख्यमंत्री साढ़े इक्कीस हजार ‘बेटियों’ को देंगे 6 करोड़ की छात्रवृत्ति

24
0
  • 40 लाख बालिकाएं कार्यक्रम से जुड़ेंगी, लिए जाएंगे सुझाव
  • हर साल मनाया जाएगा लाड़ली लक्ष्मी उत्सव

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

नवरात्र के अंतिम दिन यानी 14 अक्टूबर को राजधानी के मिंटो हाल में राज्यस्तरीय लाड़ली उत्सव आयोजित किया जाएगा। प्रदेशभर की करीब 40 लाख लाड़ली लक्ष्मी योजना की हितग्राही बालिकाएं इससे जुड़ेंगी। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान साढ़े इक्कीस हजार हितग्राही बालिकाओं को करीब 5.99 करोड़ की छात्रवृति भी वितरित करेंगे।

मंगलवार को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उत्सव की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि बेटियों को सशक्त बनाने के लिए भरपूर प्रयास किये जाना जरूरी हैं। बेटियों को केवल पूजना ही नहीं बल्कि उन्हें बचाना और सबकी लाड़ली बनाना हमारी जिम्मेदारी है। बेटियों की शिक्षा और उनकी समृद्धि के लिए कोई भी कमी नहीं रहने दी जाए।

हर साल मनाया जाएगा उत्सव

मुख्यमंत्री ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 को और अधिक बेहतर बनाए जाने के के लिए जनता से सुझाव लिए जाएँ। साल में एक दिन तय कर लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का आयोजन राज्य,जिला एवं पंचायत स्तर पर किया जाए। इस कार्यक्रम में ही प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी दिवस का आयोजन उत्सव के रूप में राज्य, जिला,ग्राम पंचायत स्तर पर किया जाए। लाड़ली लक्ष्मी पंजीयन के समय जन्म प्रमाण-पत्र मुख्यमंत्री के संदेश के साथ जारी किया जाए। लाड़ली लक्ष्मी का शत-प्रतिशत टीकाकरण एवं एनीमिया मुक्त करने के साथ पोषण का खयाल रखा जाए।

लाड़ली लक्ष्मी फे्रंडली घोषित हों गांव

12वीं कक्षा उत्तीण करने वाली हितग्राही बालिकाओं के स्नातक व व्यवसायिक पाठ्यक्रम में प्रवेश पर कम से कम दो वर्ष की पढ़ाई पूरी करने बीस हजार रुपए की राशि देने,सभी मापदंडों को पूरा करने वाली ग्राम पंचायतों व ग्रामों को लाड़ली लक्ष्मी फे्रंडली घोषित करने,इनके व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए पोर्टल तैयार करने,18 वर्ष की उम्र पूरी करने वाली हितग्राहियों को दुपहिया वाहन चलाने का लर्निंग लायसेंस बनवाने की सुविधा प्रदान करने आदि सुझाव मिले।

सभी संबद्ध संस्थाएं कार्यक्रम से जुड़ेंगी

बैठक में मुख्यमंत्री ने परसों आयोजित उत्सव में सभी सभी नगरीय निकायों,त्रि-स्तरीय पंचायत संस्थाओं,शौर्या दल,स्व-सहायता समूह एवं मातृ सहयोगिनी सदस्यों, लाड़ली लक्ष्मी व उनकी माताओं को को जोडऩे एवं प्रदेशभर में उत्सव का सभी तरह के संचार माध्यमों से प्रसारण करने के निर्देश दिए।

Previous article18 अक्टूबर से पूरी क्षमता से उड़ेगीं घरेलू उड़ान
Next articleसंकल्प से सिद्धि के सूत्रधार : श्री नरेंद्र मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here