Home भोपाल कला, संस्कृति के अंतर्राष्ट्रीय केंद्र के रूप में विकसित होगा खजुराहो, बनेगा...

कला, संस्कृति के अंतर्राष्ट्रीय केंद्र के रूप में विकसित होगा खजुराहो, बनेगा पर्यटन का आदर्श केंद: शिवराज

7
0
  • खजुराहो छत्रसाल कन्वेंशन सेंटर लोकार्पित, 3 दिवसीय माइस मीट भी शुरू
  • प्रचीन धरोहर व तालाबों से हटाए जाएंगे अतिक्रमण

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खजुराहो को वैश्विक पटल पर पुन:स्थापित करने इसके कला एवं संस्कृति के अंतर्राष्ट्रीय केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। यह पर्यटन के आदर्श केंद्र के रूप में स्थापित होगा। इसके लिए वहां की प्राचीन संपदाओं व तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कर इनका संरक्षण व संवद्र्धन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने यह बात शुक्रवार को खुजराहो में नवनिर्मित छत्रसाल कन्वेंशन सेंटर के लोकार्पण एवं केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा शुरू की गई तीन दिवसीय माइस मीट के शुभारंभ अवसर पर कही। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री प्रह्ललाद पटेल व क्षेत्रीय सांसद विष्णुदत्त शर्मा इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खजुराहो को देश की 19 आईकॉनिक सिटीज ऑफ इंडिया में से एक सिटी के रूप में चुना गया है। यह इस बात का सबूत है कि बुंदेलखंड पुरासम्पदा के रूप में कितना समृद्ध है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ‘होम स्टेÓ, ‘ग्राम स्टेÓ योजना में भी पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि मानसिक, आध्यात्मिक शांति और नये अनुभवों के लिए महलों में रहने वाले लोग भी झोपडिय़ों में रहना चाहते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खजुराहो न केवल कला, संस्कृति बल्कि योग, अध्यात्म और एक परिपूर्ण एवं सुखी मानव का जीवन कैसा हो, इसका प्रमाण देता है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की यह पावन भूमि विभिन्न नामों जैसे रत्नगर्भा, अन्नपूर्णा वसुंधरा और अब टाइगर स्टेट, लैपर्ड स्टेट और गिद्धों के संरक्षण के लिए भी जानी जाती है। यहाँ पर्यटन की असीम संभावनाएँ हैं। उन्होंने कहा कि खजुराहो नृत्य महोत्सव को भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाने की दिशा में कार्य होंगे।

पटेल, छत्रसाल की लगेगी मूर्ति

मुख्यमंत्री ने कहा कि खजुराहो के महाराजा छत्रसाल कन्वेंशन सेंटर में शीघ्र ही राष्ट्रीय एकता के प्रतीक सरदार वल्लभभाई पटेल और महाराजा छत्रसाल की भव्य मूर्ति स्थापित की जाएगी। इस अवसर पर उन्होंने इंडियन कन्वेंशन प्रमोशन ब्यूरो के मध्यप्रदेश चेप्टर का लोकार्पण भी किया।

खजुराहो के प्राचीन वैभव को वापस लाना ही मेरा प्रयास : पटेल

केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि खजुराहो के प्राचीन वैभव को वापस लाना ही मेरा प्रयास है। खजुराहो के शिलालेखों को सहेजकर उन्हें विश्व पटल पर रखा जाएगा। श्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनाकाल में पर्यटन को हुई क्षति को उभारने के लिए अनेक योजनाएँ प्रारंभ की हैं, जिससे पर्यटन के क्षेत्र का विकास होगा।

बनेगा अंतर्राष्ट्रीय योग केंद्र: विष्णुदत्त शर्मा

कार्यक्रम को प्रदेश की पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर एवं सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने भी संबोधित किया। श्री शर्मा ने कहा कि खजुराहो में योग का अंतर्राष्ट्रीय केंद्र बनाया जाएगा, जिसके माध्यम से पूरे विश्व से पर्यटक आकर मानसिक, आध्यात्मिक शांति प्राप्त कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here