Home भोपाल कोरोना संक्रमण का बढ़ा खतरा: भोपाल, इंदौर सहित प्रदेश के एक दर्जन...

कोरोना संक्रमण का बढ़ा खतरा: भोपाल, इंदौर सहित प्रदेश के एक दर्जन शहरों में रविवार को लाकडाउन

16
0
  • 6.3 प्रतिशत हुई कोरोना संक्रमण की दर, 48 घंटे में 18 मौतें
  • होली पर भोपाल में अघोषित, इंदौर में अघोषित लाकडाउन
  • औसतन 20 से अधिक प्रकरण वाले शहरों में त्यौहार सांकेतिक रूप से मनाएं जाने का फैसला

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

प्रदेश में एक दिन में संक्रमित मरीजों की संख्या पिछले एक सप्ताह से बढ़ती जा रही है। पिछले 24 घंटे में ही 2,091 नए प्रकरण मिले। इसे देखते हुए राज्य सरकार ने अब विदिशा, उज्जैन, ग्वालियर, नरसिंहपुर शहरों के साथ ही छिंदवाड़ा जिले के सौंसर में भी रविवार को लॉकडाउन का निर्णय लिया है। इससे पहले भोपाल, इंदौर, जबलपुर, रतलाम, बैतूल और छिंदवाड़ा और खरगोन में रविवार लॉकडाउन हो चुका है। इस तरह 12 शहरों में इस रविवार लॉकडाउन रहेगा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए रजिस्ट्री प्रचलित दर पर ही किए जाने की अवधि तीस अप्रैल तक बढ़ा दी गई है।

यह निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आयोजित कोरोना संक्रमण की समीक्षा बैठक में लिया गया। बैठक में बताया गया कि प्रदेश के एक दर्जन जिलों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसके बाद उक्त पांच और शहरों में भी रविवार को लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया। वहीं राजधानी भोपाल में अन्य दिनों में भी बाजार रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक बंद रहेंगे।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शाम मंत्रालय में समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि प्रदेश मे कोरोना की संक्रमण दर 6.3 प्रतिशत हो गई है। यह राष्ट्रीय दर से अधिक है। तीन बड़े शहर भोपाल, इंदौर व जबलपुर में हालात ज्यादा खराब हैं। बीते 48 घंटों के दौरान ही झाबुआ सहित अन्य प्रभावित जिलों में कोरोना संक्रमण से 18 मरीजों की मौत हुई।

प्र्रतीकात्मक तौर पर मनाएं जाएंगे त्यौहार

बैठक में तय हुआ कि जिन जिलों में कोरोना के 20 से अधिक प्रकरण हैं वहां होलिका दहन एवं शब-ए-बारात कार्यक्रम प्रतीकात्मक रूप से ही होंगे। कोरोना पर सख्ती के फैसले के लिए जिलेवार आपदा प्रबंधन कमेटी की बैठकें होंगी। आयुष्मान कार्डधारकों को कोरोना का इलाज मुफ्त मिलेगा। वहीं प्रदेश के 81 अस्पतालों में बेड रिजर्व किए गए हैं।

रजिस्ट्री की मौजूदा दर 30 अप्रैल तक बढ़ाई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 30 अप्रैल तक प्रचलित गाइडलाइन दरों पर ही रजिस्ट्री होंगी, दर नहीं बढ़ाई जाएगी। अत: रजिस्ट्री कराने में जल्दबाजी न की जाए।

समर्थन मूल्य पर खरीदी 27 से

प्रदेश के उज्जैन एवं इंदौर संभागों में समर्थन मूल्य पर गेहूँ की खरीदी 27 मार्च से प्रारंभ हो रही है। शेष संभागों में खरीदी 1 अप्रैल से प्रारंभ होगी। साथ ही सभी संभागों में 27 मार्च से ही चना, मसूर एवं सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी प्रारंभ हो रही है।

घर पर ही रहकर मनाएं होली: शिवराज

इससे पहले आज सुबह मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के महानगरों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। संक्रमण को रोकना, अस्पतालों में व्यवस्था और वैक्सीनेशन पर सरकार का ज्यादा फ ोकस है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन का आर्थिक गतिविधियों पर बहुत ही बुरा असर होता है। लेकिन आपात जैसी स्थिति में कुछ मर्यादा रखनी पड़ती है और लोगों की जान बचाने के लिए सरकार को अपना धर्म निभाना पड़ता है। उन्होंने लोगों से एक बार फिर आग्रह किया कि मास्क लगाएं, सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, होली घर पर ही रहकर मनाएं।

इंदौर में दो दिन का लाकडाउन, होली जुलूस पर रोक

वहीं इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने वहां होली पर्व को देखते हुए सोमवार को भी लाकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। जिला प्रशासन ने इंदौर में होली के जुलूस व शब ए बारात पर होने वाले आयोजनों पर भी रोक लगाने का निर्णय लिया है। भाजपा महासचिव कै लाश विजयवर्गीय समेत कुछ अन्य संगठनों ने जिला प्रशासन के इस निर्णय का विरोध भी किया,लेकिन लोगों के स्वास्थ्य की खातिर प्रशासन अपने निर्णय पर अडिग है।

होली पर भोपाल में अघोषित लाकडाउन

राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए जिला प्रशासन ने रात्रिकालीन कफ्र्यू की अवधि एक घंटा बढ़ा दी है। जिला प्रशासन द्वारा शुक्रवार को नई गाइडलाइन जारी करते हुए कहा कि भोपाल में बाजार अब रात्रि 10 क ी बजाए 9 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगे। सभी तरह के त्यौहार सिर्फ घर में रहकर परिवार के सदस्यों के साथ मनाने की अनुमति रहेगी। सार्वजनिक रूप से कोई कार्यक्रम नहीं किया जाएगा। होली पर सभी कार्यालय और प्रतिष्ठान बंद रहेंगे, इसलिए बिना कारण बाहर निकलने पर प्रतिबंध रहेगा।

Previous articleअसम में शाह की दहाड़, बोले- भाजपा लाएगी लव जिहाद और लैंड जिहाद के खिलाफ कानून
Next articleएंटीलिया मामला: मनसुख का पोस्टमार्टम करने वाले 3 डॉक्टर्स एनआईए की रडार पर, ऑटोप्सी के दौरान वझे के मौके पर रहने के सबूत मिले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here