Home भोपाल मैं लंबा लॉकडाउन नहीं चाहता, छिन जाते हैं काम-धंधे: शिवराज सिंह

मैं लंबा लॉकडाउन नहीं चाहता, छिन जाते हैं काम-धंधे: शिवराज सिंह

5
0
  • मुख्यमंत्री आज से माइक के जरिए करेंगे लोगों से मास्क पहनने की अपील
  • बचाव के 3 उपाय- मास्क, टीका व सोशल डिस्टेंसिंग

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार अपनी ओर से पूरे प्रयास कर रही है, जनता को भी जुटना होगा। मास्क ही उपाय है। इसे लगाने के लिए सोमवार से जनजागरण अभियान शुरू किया जाएगा। मैं स्वयं भी गाड़ी में सवार होकर निकलूंगा और बिना भीड़ लगाए माइक के माध्यम से लोगों से आह्वान करूंगा कि वे मास्क लगाएं। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को रखने के लिए कोविड केयर सेंटर खोले जाएंगे।

यह बात मुख्यमंत्री ने रविवार को भोपाल में कही। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है। अन्य सभी जरूरी प्रबंध किए जा रहे हैं। छिंदवाड़ा में तीन और बैतूल में दो दिन का लॉकडाउन है। मैं लंबा लॉकडाउन नहीं चाहता हूं क्योंकि इससे व्यापार ठप होता है और काम-धंधे छिन जाते हैं। गरीबों की रोजी-रोटी चलनी चाहिए। इसके लिए संक्रमण रोकना जरूरी है और यह तीन उपायों से नियंत्रित होगा।

पहला- मास्क लगाना, दूसरा- सुरक्षित दूरी बनाकर रखना और तीसरा- टीका लगवाना। इसको लेकर जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। सोमवार से इसकी शुरुआत होगी। मैं भोपाल में शाम छह बजे से एक घंटे तक लोगों से अपील करूंगा कि वे मास्क लगाएं। सभी धर्मगुरु, समाजसेवी संगठन और राजनीतिक दलों से भी कहेंगे कि वे भी लोगों को प्रेरित करने का काम करें।

जो मास्क न लगाएं उनसे न करें बात

इसमें कहेंगे कि जो मास्क न लगाएं, उससे बात न करें, दुकानदार सामग्री न दें और जो दुकानदार मास्क न लगाए, उससे सामान न खरीदें। इसको लेकर माहौल बनाना पड़ेगा। कोविड केयर सेंटर भी खोले जाएंगे क्योंकि कई बार होम आइसोलेशन में सावधानियां नहीं बरती जाती हैं। परिवार को सुरक्षित रखने के लिए ऐसे लोगों को सेंटर में रखा जाएगा।

छत्तीसगढ़ से भी रोकी जा सकती है सामान्य आवाजाही

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र के बाद छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले अधिक आ रहे हैं। जिस तरह महाराष्ट्र से बसों की आवाजाही को रोका गया है, वैसे ही छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती इलाकों में किया जा सकता है। इसको लेकर लगातार नजर रखी जा रही है। आवश्यक कार्यों से आने-जाने वालों पर प्रतिबंध नहीं होगा लेकिन चिकित्सा जांच की अनिवार्यता रहेगी।

टीके की कमी नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में टीके की कोई कमी नहीं है। केंद्र सरकार से पर्याप्त डोज प्राप्त हुए हैं। कुछ जिलों ने टीकाकरण के लक्ष्य में डेढ़ से दो गुना उपलब्धि अर्जित की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here