Home भोपाल भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त से मिले पूर्व मंत्री मलैया, रखा अपना पक्ष

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त से मिले पूर्व मंत्री मलैया, रखा अपना पक्ष

10
0

* मुलाकात के बाद संतुष्ट नजर आए , आरोपों को बताया गलत
* दमोह उपचुनाव में भितरघात के आरोप पर पार्टी ने दिया था नोटिस

स्वदेश ब्यूरो , भोपाल।दमोह उपचुनाव नतीजे के 12 दिन बाद पूर्व मंत्री जयंत मलैया ने शुक्रवार को राजधानी आकर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा के सामने अपना पक्ष रखा। उन्होंने उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में किए गए प्रचार अभियानों के साथ संगठन के प्रति अपने समर्पण का जिक्र किया। प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने मीडिया से कहा कि श्री मलैया की सारी बातें सुनने के बाद संगठन सभी तथ्यों को देखकर भविष्य में कोई फैसला करेगा।

गौरतलब है कि उपचुनाव में हार का ठीकरा पूर्व मंत्री व दमोह से सात बार विधायक रहे जयंत मलैया पर फोड़ा गया था। संगठन की ओर से उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए दस दिन में पक्ष रखने की बात कही गई थी। इसी तारतम्य में पूर्व मंत्री ने आज भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा से मुलाकात कर अपनी बात रखी।

बताया जाता है कि श्री मलैया ने प्रदेश अध्यक्ष शर्मा से मुलाकात के दौरान कहा कि उन्होंने पार्टी प्रत्याशी राहुल लोधी के पक्ष में जमकर प्रचार अभियान चलाया था। पूरे क्षेत्र में उन्होंने कई सभाएं कीं, जनसंपर्क के साथ ही कार्यकर्ताओं की फौज उतार दी थी, जिसने पूरी शिद्दत से काम किया। भितरघात के आरोप पूरी तरह गलत हैं। सूत्रों की मानें तो मलैया ने संगठन की कार्रवाई के पीछे अन्य नेताओं की साजिश की बात कही।

दमोह में दो साल में दूसरी बार हारी भाजपा ,इससे उठे सवाल

दरअसल, दमोह में संगठन की तैयारियों के बावजूद भाजपा दो साल में दूसरी बार हार गई, तो संगठन से ही मलैया के खिलाफ स्वर उभरने लगे थे। कहा जाने लगा था कि अपनी सीट पर उन्हें या उनके बेटे के बजाय कांग्रेस से आए राहुल लोधी को मौका देने से वह सियासी भविष्य को लेकर आशंकित थे, जिसके चलते उन्होंने लोधी का साथ नहीं दिया।

हालांकि उपचुनाव को लेकर मलैया ने कभी भी असहयोग के संकेत नहीं दिए थे। पार्टी ने उनके बेटे एवं दमोह मंडल अध्यक्ष सिद्धार्थ को भी निलंबित करते हुए दस दिन में जबाव देने को कहा है। अन्य चार मंडल अध्यक्षों के खिलाफ भी इसी तरह की कार्यवाही पार्टी ने की है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here