Home भोपाल जबलपुर के मनमोहन नगर अस्पताल में पहला पोस्ट कोविड केयर केंद्र

जबलपुर के मनमोहन नगर अस्पताल में पहला पोस्ट कोविड केयर केंद्र

18
0

भोपाल। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के पहल पर मध्यप्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी जबलपुर में पहला पोस्ट कोविड-19 केंद्र शुरू किया गया है। मिशन के संचालक डॉ. पंकज शुक्ला ने बताया, कि जबलपुर के मनमोहन नगर में विश फाउंडेशन के साथ मिलकर 20 बिस्तरों वाले इस केंद्र को क्रियाशील किया गया है।

डॉ शुक्ला के अनुसार जबलपुर शहर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को विकसित कर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और विश फाउंडेशन ने मिलकर यह संयुक्त उपक्रम शुरू किया है। इसके लिए हृदयरोग (कार्डियोंलॉजिस्ट), (पल्मोनरी) मेडिसिन और ऑख-नाक-कान के (ईएनटी) विशेषज्ञ डॉक्टरों की नियुक्ति की गई है। इस केंद्र में विशेष रूप से ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) की देखभाल भी की जाएगी। इसके साथ ही पैरामेडिकल कर्मचारियों जैसे- नर्स व अन्य कर्मचारियों की भी यहां व्यवस्था की गई है, जो 24 घण्टे सेवा में उपलब्ध रहेंगे।

24 घण्टे कॉल सेंटर के कर्मचारी मरीजो का फीडबैक लेंगे

विश फाउंडेशन की डॉ सविता शर्मा ने बताया, कि पोस्ट कोविड-19 मरीजों में पिछले दिनों ब्लैक फंगस की शिकायते देखने को मिली थी। इसलिए विशेष रूप से इस केंद्र में ब्लैक फंगस के निदान के लिए डॉक्टर की नियुक्ति पर जोर दिया गया है, जो 24 घण्टे मरीजों के लिए उपलब्ध रहेंगे। कॉल सेंटर के कर्मचारी रोजाना डिस्चार्ज होने वाले लोगों को बुलाकर या फोन पर स्वास्थ्य की जानकारी लेंगे। यहां फिजियोथेरोपिस्ट 24 घण्टे सेवा में उपलब्ध रहेंगे। यहां योगा केंद्र भी है।

डॉ. सविता ने बताया, कोविड के बाद तनाव, मानसिक स्वास्थ्य, फेफड़ों, हृदयरोग, ब्लैक फंगस जैसे ग्रसित होने की परेशानी अधिक सामने आ रहे हैं। इसलिए इस केंद्र में स्वस्थ हुए लोगों की काउंसलिंग की जायेगी । यदि उसमें कोई गंभीर समस्या दिखाई देती है, तो उपचार के लिए उन्हें भर्ती किया जाएगा। चूंकि अभी बिस्तर कम है, इसलिए बहुत कम मरीजों का ही यहां दाखिला संभव है। इस कोशिश में सुख-दु:ख परिवार के सदस्यों की भूमिका भी अहम है।

उन्होंने बताया, कि स्वास्थ्य मंत्रालय के सहमति पत्र के साथ ही विश फाउंडेशन ने प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सहयोग देना प्रारंभ किया है। अगर यह केंद्र सफल रहा, तो हमारी कोशिश होगी, कि प्रदेश के अन्य जिलों में भी इस तरह के केंद्र स्थापित हों।

केंद्र की अब तक की उपलब्धि
1- ओपीडी में 25 व्यक्तियों के समस्या का निदान
2- 844 व्यक्तियों का कॉल सेंटर के कर्मचारियों ने फीडबैक लिया
3- 101 व्यक्तियों की ईएनटी स्क्रीनिंग
4- 02 व्यक्तियों की ईसीजी स्क्रीनिंग
5- 08 व्यक्तियों की फिजियोथेरेपी
6- 40 व्यक्तियों को हृदय रोग संबंधी परामर्श
7- 29 फेफड़ों संबंधी परेशानी से ग्रसित लोगों का इलाज
8- 19 मरीज भर्ती

Previous articleप्यार में दीवानी आलिया भट्ट इस तरह रखती हैं रणबीर कपूर को हमेशा अपने करीब
Next articleप्रदेश में 24 घण्टे में 11 नये कोरोना संक्रमित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here