Home भोपाल किसानों के कारण कोरोना में अर्थव्यवस्था बची रही : मुख्यमंत्री

किसानों के कारण कोरोना में अर्थव्यवस्था बची रही : मुख्यमंत्री

7
0
  • देश की दूसरी सीमन प्रयोगशाला, 985 गौ-शालाएं, 33 विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण
  • मुख्यमंत्री ने कहा- खेती और पशुपालन में नया अध्याय सिद्ध होगा

भोपाल। प्रदेश में कोरोनाकाल की कठिन परिस्थितियों में अगर अर्थव्यवस्था बची रही तो वह किसानों के कारण। प्रदेश में पिछले साल हुए अनाज के भरपूर उत्पादन ने प्रदेश ही नहीं देश को मजबूती प्रदान की है। राज्य सरकार किसानों की आय दोगुनी करने का हरसंभव प्रयास कर रही है। खेती-पशुपालन, उद्यानिकी, मछली पालन- सहकारिता को समग्रता में लेकर फसलों के विविधीकरण, फूड प्रोसेसिंग, पैकेजिंग और सही मार्केटिंग से हमारे प्रदेश के उत्पाद देश ही नहीं दुनिया में धूम मचाएंंगे। उक्त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मिंटो हॉल में मिशन अर्थ के तहत आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के चौथे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर मिंटो हॉल में मिशन अर्थ के तहत राज्यस्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर देश की दूसरी अत्याधुनिक सीमन प्रयोगशाला, 985 गौशालाओं और 33 विद्युत उपकेद्रों का लोकार्पण भी किया है। इसके साथ मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 37 जिलों में स्व-सहायता समूहों द्वारा नर्सरी में उगाए गए 80 लाख पौधों को प्रदेश को समर्पित किया है।

आत्मनिर्भर व रोजगार पर केंद्रित है मिशन अर्थ

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संकट काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने का मंत्र दिया। इसके बाद मैंने आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने में जुट गया। मैंने इसका रोडमैप बनाया। मिशन अर्थ भी आत्मनिर्भर मप्र के रोडमैप में है। मिशन अर्थ के तहत कई विभागों को मिलाकर योजनाएं बनाई गई हैं, जिससे खेती और पशुपालन में नया अध्याय सिद्ध होगा और किसानों के गुणवत्तापूर्ण उत्पाद प्रदेश और देश ही नहीं विदेशों में भी धूम मचाएंगे।

985 गौशालाओं, 33 विद्युत उपकेंद्र का लोकार्पण

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को मिंटो हॉल में मिशन अर्थ के तहत भदभदा भोपाल में 47 करोड़ 50 लाख की लागत से स्थापित देश की दूसरी अत्याधुनिक सीमन उत्पादन प्रयोगशाला का डिजीटली लोकार्पण किया। इसके साथ ही प्रदेश में 260 करोड़ की लागत से बनी 985 सामुदायिक गौशालाओं का लोकार्पण और 50 करोड़ रुपये से बनने जा रही 145 सामुदायिक गौशालाओं का शिलान्यास भी किया गया। मिशन अर्थ के तहत ही मुख्यमंत्री ने 33 विद्युत उपकेंद्रों का लोकार्पण और चार उप केन्द्रों का भूमिपूजन भी किया। इनकी कुल लागत 1530 करोड़ रुपये है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में स्व-सहायता समूहों द्वारा उद्यानिकी रोपणियों में उत्पादित 80 लाख पौधे प्रदेशवासियों को समर्पित किये। इसके साथ ही किसान उत्पादक संगठन और कृषि अधोसंरचना निधि के हितग्राहियों को चेक भी वितरित किये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here