Home भोपाल कोरोना मरीजों को योग सिखाएंगे अध्यापक, ऑनलाइन हुआ प्रशिक्षण

कोरोना मरीजों को योग सिखाएंगे अध्यापक, ऑनलाइन हुआ प्रशिक्षण

74
0
  • योग से निरोग कार्यक्रम के अंतर्गत हुआ योग प्रशिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण
  • आयुष और स्कूल शिक्षा विभाग ने शुरू किए संयुक्त प्रयास

भोपाल। होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को स्वस्थ्य रखने और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य स्तरीय योग से निरोग कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया हैं। योग से निरोग के अंतर्गत पंजीकृत प्रदेश के योग प्रशिक्षकों को कोरोना केंद्रित प्रशिक्षण कार्यक्रम ऑनलाइन वेबेक्स और यूट्यूब के माध्यम से दिया गया। यह कार्यक्रम आयुष और स्कूल शिक्षा विभाग के संयुक्त प्रयासों से संचालित किया जा रहा है। ऑनलाइन प्रशिक्षण के दौरान कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के लिए वीडियो ट्रेनिंग मॉड्यूल, डूज एंड डोंट्स एवं सॉफ्ट स्किल व्यवहार संबंधी प्रशिक्षण दिया गया।

प्रमुख सचिव आयुष करलिन खोंगवार देशमुख ने कहा कि योग से निरोग कार्यक्रम के अंतर्गत इच्छुक स्वयंसेवक योग प्रशिक्षक ऑनलाइन द्धह्लह्लश्चह्य://द्वड्डश्चद्बह्ल.द्दश1.द्बठ्ठ/ष्श1द्बस्र-१९/ अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। प्रत्येक योग प्रशिक्षक को 10-10 मरीज आवंटित किए जाएंगे। इन मरीजों को 3 दिन का योग प्रशिक्षण ऑनलाइन गूगल मीट, माइक्रोसॉफ्ट टीम्स, वेबेक्स आदि माध्यमों से दिया जाएगा।

स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने बताया कि योग से निरोग कार्यक्रम होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड संक्रमित मरीजों के लिए है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य मरीजों के डिप्रेशन को कम करने और उनके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखने के साथ उनका मनोबल और उत्साह बनाए रखना है। आयुष मंत्रालय भारत सरकार की कोविड-19 गाइडलाइन प्रोटोकॉल पर आधारित वीडियो ट्रेनिंग मॉड्यूल का प्रशिक्षण योग प्रशिक्षकों को दिया गया है। साथ ही उन्होंने कोविद 19 व्यक्तियों से संयम और सौम्यता से व्यवहार संबंधी प्रशिक्षण भी दिया गया।

प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन अपर संचालक धीरेन्द्र चतुर्वेदी ने किया। खुशीलाल आयुर्वेद महाविद्यालय भोपाल के प्राचार्य डॉ उमेश शुक्ला की टीम ने सभी योग प्रशिक्षकों को कोविड 19 प्रोटोकॉल पर केंद्रित योग और प्राणायाम संबंधी प्रशिक्षण दिया। मैप आईटी के अभिषेक चौहान ने स्वयंसेवक योग प्रशिक्षकों को माय गोव पोर्टल पर योग प्रशिक्षक के रूप में रजिस्टर करने की प्रक्रिया बताई। सभी जिलों में योग प्रशिक्षको और होम आइसोलेटेड मरीजों की मैपिंग जिला शिक्षा अधिकारी और जिला आयुष अधिकारी द्वारा की जाएगी।

इस अवसर पर आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत, निदेशक महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान प्रभात राज तिवारी, आयुष विभाग के डॉ अरविंद कुमार पटेल, डॉ राजीव मिश्रा सहित सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी, आयुष अधिकारी, वॉलंटियर शिक्षक और संबधित अधिकारी उपस्थित थे।

Previous articleआईसीएमआर की मनाही के बाद भी निजी अस्पतालों में दी जा रही प्लाज्मा थैरेपी
Next articleवैक्सीन का सेकेण्ड डोज लेने के बाद 28 दिन के पहले रक्तदान पर रोक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here