Home भोपाल मप्र में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में मिले रिकॉर्ड 2777...

मप्र में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में मिले रिकॉर्ड 2777 नए मरीज

7
0
  • बैतूल, छिंदवाड़ा सहित 4 शहरों में लॉकडाउन, भोपाल से भेजी टीम
  • प्रदेश में अब छोटे शहर भी कोरोना की चपेट में

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

मप्र में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक रूप लेती जा रही है। बीते चौबीस घंटों के दौरान ही रिकॉर्ड 2777 नए संक्रमित मरीजों की पहचान हुई। वहीं 16 मरीजों की मौत हो गई जबकि 1479 मरीज ठीक हुए। नए संक्रमितों का प्रदेश में यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 18 सितंबर को 2607 मरीज मिले थे। इधर,प्रदेश के चार शहरों में आगामी सोमवार की सुबह 6 बजे तक के लिए घोषित लॉकडाउन आज से शुरू हुआ। इसके चलते इन शहरों में सड़कें वीरान रहीं व लोगों ने रंगपंचमी, गुड फ्राइडे का पर्व अपने घर पर ही मनाया। इन शहरों में कोरोना पर नियंत्रण के लिए भोपाल से अधिकारियों के दल भी भेजे गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा देर शाम जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, प्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान इंदौर में 682,भोपाल में 528,जबलपुर में 185 और ग्वालियर में 115 नए मरीज मिले हैं। इन चारों महानगरों के अलावा खरगोन, बैतूल, रतलाम और छिंदवाड़ा में हालात खराब होते दिखाई दे रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की मौजूदा स्थिति को देखते हुए आज सुबह इन चारों शहरों में चिकित्सा एवं प्रशासनिक अधिकारियों की टीम भोपाल से रवाना करने के निर्देश दिए। बताया जाता है कि यह दल संबंधित जिलों में कोरोना नियंत्रण के साथ ही लॉकडाउन के दौरान प्रशासनिक व्यवस्था पर भी निगाह रखेंगे। श्री चौहान ने कहा कि महाराष्ट्र के सीमावर्ती जिले छिंदवाड़ा में मरीजों की अधिक संख्या को देखते हुए संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण के लिए तीन दिन के लिए लॉकडाउन किया गया है। इसके अलावा प्रदेश में रविवार का लॉकडाउन जिन शहरों में पूर्व में रहा है, वहां यथावत रहेगा।

32 जिलों में एक दिन में 20 से अधिक मरीज

प्रदेश में अब 52 में से 32 जिले ऐसे हैं, जहां एक दिन में 20 से अधिक कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं।इससे स्पष्ट है कि कोरोना की दूसरी लहर अब छोटे शहरों को भी अपनी चपेट में ले रही है। पिछले 24 घंटे में उज्जैन में 85, रतलाम में 85, खरगोन में 75, बैतूल में 66, कटनी में 43, बड़वानी में 50, विदिशा में 29, छिंदवाड़ा में 66, धार में 40, नरसिंहपुर में 35, सागर में 31, शाजापुर में 29, शिवपुरी में 45 और खंडवा में 27 संक्रमित मिले। वहीं, रीवा में 25, झाबुआ में 49, बालाघाट में 37, सतना में 22, सीहोर में 24, बुरहानपुर में 21, मंडला में 20, सिवनी में 25, देवास में 36, गुना में 21, मंदसौर में 30, नीमच में 26 और शहडोल में 27 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 19,336 हो गई है। पिछले सात दिन में इनमें 6,341 की बढ़ोतरी हुई है। फरवरी और मार्च की तुलना करें तो फरवरी में 478 सक्रिय प्रकरण थे जो 31 मार्च को बढ़कर 15,084 हो गए थे। यानी इनमें एक महीने में 31 गुना बढ़ोतरी हुई। सबसे ज्यादा इंदौर में 4576 और उसके बाद भोपाल में 4548 सक्रिय प्रकरण हैं। प्रदेश की संक्रमण दर 10.4 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

अगले 15 दिन अहम

विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोना संक्रमण की दृष्टि से अगले 15 दिन अधिक महत्वपूर्ण है। इस दौरान संक्रमण और बढ़ सकता है। रोकथाम के लिए सख्ती जरूरी है। राजधानी भोपाल सहित विभिन्न स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वालों पर जुर्माना लगाया जा रहा है, लेकिन गली, मोहल्लों यहां तक कि बाजार में भी इसे लेकर लापरवाही अब भी देखी जा रही है। कोविड की गाइड लाइन का सख्ती से पालन और दूसरी ओर टीकाकरण की संख्या बढ़ाकर इस संक्रमण को बढऩे से रोका जा सकता है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से पुन: अपील की कि सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर के उपयोग के साथ ही नागरिक मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें, जो संक्रमण से बचाव के लिए सबसे प्रभावी माध्यम है। साथ ही सभी लोग कोविड-19 गाइडलाइन का पालन भी करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here