Home भोपाल दिवंगत कर्मियों एवं ठेका श्रमिकों के परिजन को दी जाए अनुकंपा नियुक्ति...

दिवंगत कर्मियों एवं ठेका श्रमिकों के परिजन को दी जाए अनुकंपा नियुक्ति एवं क्षतिपूर्ति

34
0
  • गोविंदपुरा विधायक एवं भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश मंत्री कृष्णा गौर ने अध्यक्ष बीएचईएल को लिखी चिट्ठी

स्वदेश संवाददाता, भोपाल।

गोविंदपुरा विधायक एवं भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश मंत्री श्रीमती कृष्णा गौर ने अध्यक्ष सह प्रबंध संचालक भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड बीएचईएल हाउस, सीरी फोर्ट नईदिल्ली को बीएचईएल (भेल) कारखाना भोपाल में कोरोना के कारण दिवंगत कर्मचारियो (नियमित एवं ठेका श्रमिको) के परिवारो के सदस्यो को अनुकम्पा नियुक्ति एवं क्षतिपूर्ति दिए जाने के लिए चिट्ठी लिखी है।

चिट्ठी में कहा गया है कि बीएचईएल (भेल) भोपाल अपने कर्मचारियो (नियमित एवं ठेका श्रमिक) के कारण लगातार प्रबंधन द्वारा प्रतिवर्ष निर्धारित लक्ष्य से अधिक उत्पादन कर कारखाने का गौरव बढ़ाते रहे है। वर्ष 2021 में आये कोरोना प्रकोप के कारण अभी तक लगभग 45 नियमित कर्मचारी एवं लगभग 50-55 ठेका श्रमिको की मृत्यु हो गई है। इनमे अधिकांश युवा कर्मचारी साथी है। उनका परिवार आज सडक़ पर है। इन परिवारों के पुर्नवास की कोई योजना एवं कार्यक्रम प्रबंधन वर्ग द्वारा व्यवहार में नहीं लाया गया है।

कार्य के दौरान हुए संक्रमित

चिट्ठी में कहा गया कि भेल के जितने भी कर्मचारियो की मृत्यु हुई है वे सभी कार्य के दौरान ही संक्रमित हुए हैं, उनकी मृत्यु को कार्य के समय हुई दुर्घटना के कारण माना जावे, क्योकि इन कर्मचारियो को प्रबंधन द्वारा खतरे की संभावना एवंव तीव्रता को जानते हुये भी कार्य पर आने एवं कार्य करने के लिये बाध्य किया गया। अत: इन कर्मचारियो के जीवन हानि के लिये प्रबंधन प्रत्यक्ष रूप से उत्तरदायी है।

भारत सरकार अपने कोरोना योद्धा को 50 लाख रूपये से बीमित किया है। साथ ही टाटा स्टील ने अपने सामाजिक सुरक्षा दायित्व को निभाते हुये अपने मृत कर्मचारियो के परिवारो को उनके अन्तिम वेतनमान के अनुसार (अर्द्धवार्षिक आयु) अर्थात् रिटायरमेन्ट की अवधि तक वेतन भगतान निर्णया लिया है। साथ ही उनके बच्चो की नि:शुल्क शिक्षा की व्यवस्था करने जा रहा है। जिसकी प्रशंसा सर्वत्र की जा रही है। भेल भी इस योजना का अनुसरण कर सकती है। इसके अलावा श्रीमती गौर ने प्रधामंत्री के अलावा भारत सरकार के गृह मंत्री, उद्योग मंत्री के साथ मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन भोपाल कार्यपालन निदेशक बीएचईएल भोपाल की ओर आवश्यक कार्यवाही हेतु भी चिट्ठी प्रेषित की है।

Previous article‘पैरामेडिकल’ अमले को रेल महिला कल्याण संगठन ने प्रोत्साहित कर दिया ‘थैंक्यू बॉक्स’
Next articleमाधव सेवा केंद्र से 9 वर्षीय बालक सुदांशु स्वस्थ होकर पहुंचा घर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here