Home भोपाल मुख्यमंत्री बोले- जरूरी हुआ तो हेलीकॉप्टर से जिलों में पहुंचायेंगे रेमडेसिविर,...

मुख्यमंत्री बोले- जरूरी हुआ तो हेलीकॉप्टर से जिलों में पहुंचायेंगे रेमडेसिविर, रेल से मंगाएंगे ऑक्सीजन

21
0
  • मप्र में 24 घंटे में दस हजार के करीब मिले संक्रमित, आधा सैकड़ा से अधिक की मौत
  • दमोह का रोड शो निरस्त कर दिन भर तैयारियों में लगे रहे मुख्यमंत्री
  • ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हरसंभव प्रयास कर रही सरकार

भोपाल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बहुत तेजी से बढ़ रही है। इंदौर और भोपाल के साथ ग्वालियर और जबलपुर में भी संक्रमण भयावह स्थिति में पहुंचता जा रहा है। बीते चौबीस घंटे में प्रदेश में दस हजार के करीब नए संक्रमित मिले हैं और सरकारी रिपोर्ट में आधा सैकड़ा से अधिक की मौत हुई है। मुख्यमंत्री बुधवार को दमोह में होने वाला रोड शो निरस्त कर दिन भर ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शन और बिस्तरों को बढ़ाने की तैयारियों में लगे रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संकट बहुत विकट है,सरकार लोगों की जान बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। जरूरी हुआ तो रेमडेसिविर इंजेक्शन जिलों में हेलीकॉप्टर से और ऑक्सीजर रेल से मंगवाएंगे। मुख्यमंत्री ने भिलाई और उड़ीसा के राउरकेला से ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से बात की है और आग्रह किया है कि प्रदेश को ऑक्सीजन की उपलब्धता और बढ़ाई जाए। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री से कहा है कि ऑक्सीजन टैंकर के स्थान पर ट्रकों में भरकर गैस सिलेंडर पहुंचाने की व्यवस्था करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की ट्रैकिंग भी की जा रही है। प्रदेश में ऑक्सीजन के सिलेंडर पुलिस की सुरक्षा में अस्पतालों तक पहुंचाए जा रहे हैं, ताकि मरीजों को ऑक्सीजन मिलने में कोई परेशानी न आए।

मंत्रालय में ली बैठक, मंत्री पहुंचे नियंत्रण कक्ष

मुख्यमंत्री का बुधवार को दमोह उपचुनाव में रोड शो था, जिसमें सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल होने वालो थे। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए मुख्यमंत्री ने दमोह का रोड शो निरस्त कर मंत्रालय में अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई और ऑक्सीजन व रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर चर्चा की। वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ऑक्सीजन के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। वहीं 15 अप्रैल को रेमडेसिविर के 15 हजार डोज प्रदेश को मिलने वाले हैं।

– रीवा, छतरपुर, गुना, टीकमगढ़ और रायसेन में 20 तक कोरोना कफ्र्यू

  • इंदौर के छत्रीपुरा थाने के सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत

कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए रीवा में 26 अप्रैल, गुना, टीकमगढ़ और रायसेन जिले में 20 अप्रैल की सुबह छह बजे तक के लिए कोरोना कफ्र्यू लगा दिया गया है। छतरपुर में बुधवार राज से 22 अप्रैल की सुबह छह बजे तक के लिए कोरोना कफ्र्यू लगा दिया गया है।

इंदौर में राधास्वामी सत्संग व्यास में 2000 बेड का कोविड केयर सेंटर

प्रदेश में सबसे अधिक हालत इंदौर के ही खराब हैं। यहां 1600 से अधिक संक्रमित बीते दो दिन से मिल रहे हैं। इंदौर के सभी बड़े अस्पतालों में बिस्तर फुल हो गए हैं, संक्रमण दर 20 प्रतिशत से अधिक पहुंच गई है, ऐसे में शहर के राधास्वामी सत्संग व्यास में दो हजार बिस्तरों का कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। पहले चरण में 500 बिस्तर तैयार किए जा रहे हैं। प्रशासन दिन रात मेहनत कर इसे जल्द शुरू करने में जुटा है। बुधवार को मरीजों के लिए बेड लगाने का काम शुरू हो गया। यहां उन मरीजों को रखा जाएगा, जिन्हें किसी कारणवश होम आइसोलेशन में परेशानी आ रही है। इस हॉल में एक लाख लोग बैठकर सत्संग सुनते हैं, अनुमान है कि यहां पांच हजार बिस्तर तक लगाए जा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here