Home भोपाल शराब के अवैध कारोबार के खिलाफ प्रदेशभर में चलेगा अभियान : शिवराज

शराब के अवैध कारोबार के खिलाफ प्रदेशभर में चलेगा अभियान : शिवराज

22
0
  • ‘संगीन अपराध माने जाएं जहरीली शराब से मौत के मामले’
  • मंदसौर मामले में जांच दल गठित


स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अवैध शराब के कारोबार के खिलाफ प्रदेशभर में तत्काल प्रभाव से अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। वहीं मंदसौर में जहरीली शराब से आधा दर्जन लोगों की मौत को लेकर एसीएस गृह विभाग की अध्यक्षता में एक जांच दल गठित किया है। श्री चौहान ने कहा कि इस घटना के दोषी किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।

श्री चौहान ने मंगलवार को अवैध शराब के कारोबार की रोकथाम को लेकर बैठक ली। इसमें उन्होंने साफ कहा कि जहरीली शराब से मौत के मामले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। इस तरह के अपराधों को संगीन अपराधों की श्रेणी में रखा जाए। आवश्यकतानुसार कानून में संशोधन भी किए जा सकते हैं।

उन्होंने शराब के अवैध कारोबार पर नियंत्रण के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। श्री चौहान ने कहा कि यह अभियान तत्काल प्रभाव से शुरू किया जाए। उन्होंने मंदसौर जिले में हुई उक्त मामले एवं इसे लेकर की गई कार्यवाही संबंधी जानकारी भी ली। बैठक में शराब के अवैध कारोबार की रोकथाम के लिए राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल का सहयोग लिए जाने को लेकर भी चर्चा हुई। बैठक में बताया गया कि इस मामले में बैठक में पिपल्या मण्डी के थाना प्रभारी , कार्यवाहक उप निरीक्षक और आबकारी उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

उच्चस्तरीय अधिकारियों का दल करेगा जांच

मुख्यमंत्री ने उक्त घटना की उच्चस्तरीय जांच के लिए अपर मुख्य सचिव गृह डॉ.राजेश राजौरा की अध्यक्षता में एक विशेष दल गठित किया है। इसमें एडीजीपी सतर्कता जी.पी.सिंह एवं आईजी रेल एम.एस.सिकरवार सदस्य होंगे। यह दल मंदसौर जिले के ग्राम खकरई में जहरीली शराब के सेवन से छह लोगों की मौत के मामलों की बारीकी से हर पहलू की जांच कर अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपेगा।

ये रहे मौजूद

बैठक में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, वाणिज्यिक कर मंत्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव डॉ.राजेश राजौरा, वाणिज्यिक कर विभाग की प्रमुख सचिव दीपाली रस्तोगी उपस्थित थे।

Previous articleबसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री
Next articleराज्य मंत्रिपरिषद के फैसले, प्रदेश में अब 7 अगस्त तक हो सकेंगे तबादले,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here