Home भोपाल विधानसभा का बजट सत्र: पहली बार के 14 विधायकों को मिला सदन...

विधानसभा का बजट सत्र: पहली बार के 14 विधायकों को मिला सदन में सवाल पूछने का मौका

5
0
  • कांग्रेस के 13, भाजपा के एक विधायक का मिला अवसर

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल

विधानसभा के बजट सत्र में सोमवार को प्रश्नकाल के दौरान पहली बार जीतकर आए विधायकों को सरकार से सवाल करने का मौका दिया गया। इस दौरान 14 विधायकों ने अपने सवाल पूछे। संबंधित विभाग के मंत्रियों ने जवाब दिए। खास बात यह है कि लॉटरी में इन 14 में से 13 विधायक कांग्रेस के थे, जबकि एक जबेरा से भाजपा के विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी को मौका मिला।

प्रश्नकाल के दौरान गोहद से विधायक मेवाराम जाटव ने भिंड और मुरैना के किसानों का मामला सदन में उठाया था। उन्होंने आरोप लगाया कि दोनों जिले के किसानों को बाजरा और मक्का की खरीदी का भुगतान नहीं किया गया। इसके जवाब में खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सभी किसानों का भुगतान कर दिया गया है। मेवालाल जाटव ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने असत्य जानकारी दी है। वह आसंदी के सामने धरने पर बैठ गए। हालांकि कुछ देर बाद ही उन्हें कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक डॉ. गोविंद सिंह ने वापस ले जाकर उनकी सीट पर बैठाया।

पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक जीतू पटवारी ने पीईबी द्वारा कृषि विस्तार अधिकारियों की ली गई परीक्षा में धांधली होने का आरोप लगाया। उन्होंने सदन में चर्चा की मांग उठाई। अध्यक्ष ने उन्हें आश्वस्त किया कि वह इस पर विचार करेंगे।
मौका नहीं मिलने से महिला विधायकों को हुई निराशा

प्रश्नकाल में शामिल नए विधायकों में एक भी महिला विधायक का नाम नहीं होने का मामला भाजपा की श्रीमती कृष्णा गौर ने उठाया। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि श्लाका प्रश्नों की लॉटरी महिला विधायक ने ही निकाली है। प्रश्नकाल में शामिल 25 प्रश्नों में बीसवें नंबर पर बसपा की रामबाई का सवाल था। संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा इसका हवाला दिया। इस पर कांग्रेस के सज्जन वर्मा ने टिप्पणी की।

मतदाता सूची में गड़बडिय़ों का मामला उठा

पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पी.सी. शर्मा ने मतदाता सूची में गड़बडिय़ों का मामला सदन में उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव पूर्व की मतदाता सूची के आधार पर कराए जा रहे हैं, जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में नई मतदाता सूची बन चुकी है। इसके हिसाब से चुनाव कराए जाएं। इस मांग का भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने समर्थन करते हुए कहा कि मतदाता सूची में बहुत गड़बडिय़ां हैं। एक परिवार के 6 सदस्यों के अलग-अलग बूथों में नाम है। इस तरह की कई गड़बडिय़ां सामने आ चुकी है, लिहाजा मतदाता सूची को पुनरीक्षित किया जाए।

आयुष्मान योजना: निजी अस्पतालों को 991 करोड़ का भुगतान

स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने बताया कि आयुष्मान योजना में निजी अस्पतालों को 691 करोड़ का भुगतान किया है। इसको लेकर कांग्रेस विधायक हिना कांवरे ने कहा कि निजी अस्पतालों द्वारा आयुष्मान कार्ड धारकों से पैसे अलग से लिए जा रहे हैं। इसके जवाब में मंत्री ने कहा कि यदि ऐसा कोई प्रकरण सरकार के सामने आएगा तो कार्रवाई की जाएगी।

दिखा कोरोना का असर

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि सभी विधायक कोरोना का टेस्ट कराएं। विधायकों को अपने साथ स्टाफ से सिर्फ एक कर्मचारी को लाने की अनुमति दी गई है। प्रेस दीर्घा को छोड़ शेष अन्य दीर्घाओं में प्रवेश पर भी प्रतिबंध रहा।

अनूप मिश्रा पहुंचे विधानसभा, विस अध्यक्ष से की सौजन्य भेंट

पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा सोमवार को विधानसभा पहुंचे। उनके साथ भाजपा के डॉ.नरोत्तम मिश्रा,यशपाल सिंह सिसोदिया व बसपा की रामबाई ने 5 दिन के अवकाश के बाद सदन की बैठक शुरू होने पर अध्यक्ष गिरीश गौतम से सौजन्य भेंट की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here