Home भोपाल पेनड्राइव को लेकर कमलनाथ माफी मांगें या जेल जाएं : वीडी शर्मा

पेनड्राइव को लेकर कमलनाथ माफी मांगें या जेल जाएं : वीडी शर्मा

44
0

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद व गोपनीयता का दुरुपयोग किया
भोपाल। हनीट्रैन की पेनड्राइव अपने पास होने का बयान देकर कमलनाथ घिरते जा रहे हैं। उच्च न्यायालय की निगरानी में जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने जहां दो जून को कमलनाथ से इस संबंध में पूछताछ कर सकती है, वहीं भाजपा लगातार हमलावर है। प्रदेश के गृह मंत्री के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भी सोमवार सुबह पन्ना में उन पर हमला बोला है। प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि हनीट्रैन की पेनड्राइव को लेकर कमलनाथ ने जो कहा है, वह अत्यंत गंभीर बात कही है। हनीट्रैप का मामला कमलनाथ के मुख्यमंत्री रहते आया, उच्च न्यायालय की निगरानी में एसआईटी पूरे मामले की जांच कर रही है। जो मामला न्यायालय के संज्ञान और निगरानी में है, उसके साक्ष्य व तथ्य मुख्यमंत्री रहते कमलनाथ ने छिपाएं हैं। यह अत्यंत गंभीर बात है। कमलनाथ ने मुख्यमंत्री के पद और गोपनीयता शपथ का दुरुपयोग किया है। अगर उनके पास पेनड्राइव है तो उसे उच्च न्यायालय के समक्ष पेश क्यों नहीं किया। मैं पूछना चाहता हूं कि आखिर पेनड्राइव कमलनाथ के पास कहां से आई।

अपने साथी पूर्व मंत्री को बचाने दबाव बनाया
विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि कमलनाथ ने साक्ष्य अपने पास रखने के साथ अपने साथी पूर्व मंत्री जो महिला मित्र की आत्महत्या के आरोपी हैं, उन्हें बचाने के लिए पेनड्राइव का बयान देकर पुलिस पर दबाव बना रहे थे। उन्होंने पूर्व मंत्री को बचाने पुलिस पर दबाव डाला। कमलनाथ पेनड्राइव को लेकर प्रदेश की जनता से माफी मांगे कि उनके पास पेनड्राइव नहीं है या फिर पेनड्राइव रखने के आरोप में जेल जाएं। मैं तो पहले भी कहता रहा हूं कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह झूठ के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी हैं।

वैश्विक संकट में कांगे्रस राजनीति कर रही

पन्ना में मीडिया से चर्चा करते हुए विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि लोकतंत्र में पक्ष-विपक्ष सब होता है। लेकिन कोरोना जैसी वैश्विक संकट के समय भी कांग्रेस राजनीति कर रही है। सरकारें कोरोना से लड़ रही हैं, लेकिन सरकार के साथ राजनीतिक दलों, कार्यकर्ताओं और समाज को भी सरकार का सहयोग देना चाहिए। क्रइसिस मैनेजमेंट में भाजपा के साथ कांग्रेस के नेताओं व कार्यकर्ताओं को शामिल किया है प्रदेश सरकार ने, लेकिन कांग्रेस सेवा की बजाय राजनीति कर रही है। लगता है अंगे्रजी मानसिंकता से प्रेरित होने के कारण कमलनाथ वे इस तरह के बयान देते हैं।

Previous articleदिव्यजीवन संस्था द्वारा किन्नर समुदाय को राशन किट वितरित किए गए
Next articleचीन के विस्तारवादी नीति के शिकंजे में श्रीलंका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here