Home भोपाल साकेत नगर में 10 करोड़ की लागत से बनेगा कृषि विश्राम-गृह व...

साकेत नगर में 10 करोड़ की लागत से बनेगा कृषि विश्राम-गृह व प्रशिक्षण केन्द्र

6
0
  • कृषि मंत्री पटेल और विधायक कृष्णा गौर ने किया भूमि-पूजन
  • कृषि मंत्री बोले- किसान हितैषी मुख्यमंत्री ने खोले विकास के द्वार

भोपाल। राजधानी के गोविंदपुरा विधानसभा क्षेत्र के साकेत नगर में 10 करोड़ की लागत से कृषि विश्राम गृह सह प्रशिक्षण केंद्र बनाया जाएगा। शुक्रवार को कृषि मंत्री कमल पटेल और स्थानीय विधायक कृष्णा गौर ने प्रशिक्षण केंद्र व विश्राम गृह का भूमि-पूजन किया है। इस मौके पर कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा किसानों के लिये अत्याधुनिक कृषि तकनीक एवं उन्नत कृषि के लिए प्रशिक्षण केन्द्र-सह-विश्राम-गृह का निर्माण कराया जा रहा है। इसमें उत्पादन के साथ ही अधिकतम लाभ अर्जन के लिये बेहतर विपणन के लिये भी प्रशिक्षण दिया जायेगा। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि हमारी सरकार महात्मा गांधी के स्वप्न को साकार कर रही है। गांधी जी ने कहा था कि किसान इस देश की आत्मा और मूल रीढ़ हैं। किसान का विकास होगा, तो देश का विकास होगा। उन्होंने कहा कि गांवों का इतना विकास हो रहा है कि धीरे-धीरे गांव और शहर का भेद खत्म हो रहा है। श्री पटेल ने कहा कि हमारी सरकारों द्वारा ऐसी नीतियां बनाई जा रही हैं, जिससे किसानों को अधिकतम लाभ मिल सके। आत्म-निर्भर भारत और आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये किसानों को आर्थिक रूप से सशक्त कर आत्म-निर्भर बनाने के लिये सरकार दृढ़ संकल्पित है।

  • गोविंदपुरा को मिली महत्वपूर्ण सौगात के लिये आभार
  • 31 हजार वर्गफीट में बनेगा कृषक विश्राम-गृह

एम्स हॉस्पिटल के पीछे अत्याधुनिक कृषक विश्राम-गृह-सह-प्रशिक्षण केन्द्र 31 हजार वर्ग फीट में बनाया जायेगा। यह भवन भू-तल के अतिरिक्त 3 मंजिला रहेगा। इसमें ऑडिटोरियम, कम्प्यूटर-रूम के अतिरिक्त 50 कृषकों के ठहरने की उत्तम व्यवस्था रहेगी। भवन के बेसमेंट में 35 कारों के खड़े रहने का स्थान रहेगा। भवन की लागत 8 करोड़ 84 लाख रुपये होगी। फर्नीचर इत्यादि के लिये 2 करोड़ रुपये का प्रावधान पृथक से किया गया है। इस प्रकार भवन 10 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 18 माह में तैयार किया जायेगा। मंत्री श्री पटेल ने मण्डी बोर्ड के अधिकारियों को समयावधि में गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्य करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने हिदायत भी दी है कि गुणवत्ता से समझौता करने पर संबंधितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here