Home भोपाल जेपी सहित जिला अस्पतालों के 49 फीसदी बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए...

जेपी सहित जिला अस्पतालों के 49 फीसदी बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए होंगे आरक्षित

4
0
  • इमरजेंसी व अन्य मरीजों के लिए जेपी अस्पताल में सिर्फ 84 बिस्तर
  • आईसीयू के 20 बेड भी कोविड के लिए

भोपाल। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने अब जिला अस्पतालों में कोविड के लिए बिस्तर आरक्षित करने के आदेश में एक बार फिर तब्दीली की है। करीब दस दिन पहले स्वास्थ्य आयुक्त ने जिला अस्पतालों के कुल बिस्तरों में से 30 फीसदी प्रसूति रोग व बच्चों के लिए, 30 फीसदी इमरजेंसी व अन्य मरीजों के लिए आरक्षित किए थे। इस आउट ऑफ कंट्रोल होते कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों को एडमिट करने के लिए इमरजेंसी के मरीजों हेतु अब सिर्फ 21 फीसदी बेड ही उपलब्ध रहेंगे। भोपाल के जेपी अस्पताल के 400 बेड में से इमरजेंसी के लिए 84 बिस्तर और प्रसूति रोग व बच्चों के लिए 120 बेड रहेंगे। बाकी 196 बेड कोरोना मरीजों के लिए अब आरक्षित किए जाएंगे।

मेडिकल कॉलेजों में मरीजों का दबाव कम करने की कवायद

भोपाल सहित प्रदेश भर के 13 मेडिकल कॉलेजों और बडेÞ शहरों में पहुंच रहे कम गंभीर कोरोना मरीजों को टर्सरी केयर के बजाए जिला अस्पतालों में ही इलाज मुहैया कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने प्रयास शुरू किए हैं। टर्सरी केयर सेंटर्स यानि मेडिकल कॉलेजों में जरूरत के समय गंभीर कोरोना मरीजों को बिस्तर नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में जिला अस्पतालों में कोरोना के मरीजों का इलाज किया जाएगा। इसके लिए ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, आईसोलेशन बेड, और आईसीयू बेड रिजर्व किए गए हैं।

अब जिला अस्पतालों में ऐसे होंगे बिस्तर
मप्र भोपाल
कुल बिस्तर 15450 400
30% मातृ एवं शिशु रोग हेतु 4635 120
21% इमरजेंसी व अन्य मरीजों हेतु 3244 84
49% कोरोना मरीजों हेतु कुल बेड 7572 196
ऑक्सीजन सुविधा सहित 3422 103
कोविड आईसीयू बेड 579 20
आईसोलेशन व अन्य कोविड सर्विस हेतु 3790 73

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here