Home भोपाल प्रदेशभर में मिले कोरोना के 420 नए मरीज, 32 की मौत, सतर्कता...

प्रदेशभर में मिले कोरोना के 420 नए मरीज, 32 की मौत, सतर्कता जरूरी

68
0
  • 6 हजार से अधिक रोगी अब भी अस्पतालों में भर्ती

स्वदेश ब्यूरो, भोपाल।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है। गुरुवार को प्रदेश भर में इस महामारी से पीडि़त 420 नए मरीज सामने आए जबकि 6325 मरीज पहले से ही विभिन्न अस्पतालों में भर्ती रहकर अपना इलाज करा रहे हैं। यही नहीं बीते 24घंटों के दौरान कोरोना से 34 लोगों की मौतें भी हुईं।

प्रदेश में जनता कफ्र्यू से राहत प्राय: हर जिलें में मिल चुकी है। कुछ प्रमुख संस्थानों को छोड़ बाजार भी पूरी तरह खुल गए हैं। भोपाल में ही कोचिंग संस्थान,सिनेमाघर मॉल को छोड़ शेष बाजार अनलॉक हो गए। इनमें भीड़ भी उमड़ रही है।

राजधानी में कोरोना के बुधवार को 104 मरीज मिले थे,गुरुवार को भी 107 नए मरीज सामने आए। शहर में 1712 मरीज विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। यही हाल इंदौर,जबलपुर,रतलाम व बैतूल समेत कुछ अन्य शहरों का है। इंदौर में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 129 नए मरीज मिले जबकि 221 स्वस्थ हुए। जिले में सक्रिय अर्थात अस्पताल या घर में आइसोलेट मरीजों की संख्या 1045 है। वहीं प्रदेशभर में यह आंकडा़ छह हजार से अधिक है।

संक्रमण चेन तोडऩे में संवाद को बनाया प्रमुख अस्त्र

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार कोरोना महामारी से बचाव के लिए कोविड नियमों के पालन पर जोर देते रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर की ही बात करें तो उन्होंने आम जन से लगातार संवाद कायम कर संक्र मण पर नियंत्रण पाने में सफलता हासिल की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दो गज की दूरी-मास्क है जरूरी, मास्क नहीं-तो सामान नहीं, मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा जैसे प्रभावशाली संदेश के साथ कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे सभी वर्गों से संवाद को प्रमुख अस्त्र बनाया। इस दौरान, समाज का शायद ही ऐसा कोई वर्ग छूटा हो जिनसे मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संवाद न किया हो।

उन्होंने सर्वप्रथम स्वास्थ्य आग्रह के माध्यम से प्रदेश की जनता को यह संदेश दिया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये शासन-प्रशासन के साथ आमजन की भूमिका भी महत्वपूर्ण है। इसी क्रम में उन्होंने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर जनता को जागरूक करने के लिये सीधा संवाद कर कोरोना संक्रमण से बचाव के उपाय भी बताये। संचार की आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए वीडियो कॉन्फ्रे सिंग और सोशल मीडिया के द्वारा वर्चुअली कार्यक्रम आयोजित कर अधिकांश वर्गों से संवाद का क्रम बनाये रखा। कई प्रान्तों ने इसे अपनाया भी है और केन्द्र सरकार ने सराहना भी की है।

सभी कैदियों को 15 जुलाई तक टीका लगाने के निर्देश

इधर, जेल विभाग गत एक जून से कैदियों के लिए टीकाकरण अभियान चला रहा है। बीते दस दिन में प्रदेश की विभिन्न जेलों में बंद सजायाफ्ता व विचाराधीन 49 हजार कैदियों में से अब तक 7 हजार 1 सौ को टीके लगाए जा चुके हैं। प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने कैदियों के लिए टीकाकरण अभियान तेज करने व आगामी 15 जुलाई तक शत -प्रतिशत कैदियों को टीका लगाए जाने के निर्देश दिए हैं। इस आशय के आदेश भी गुरुवार को जारी किए गए। प्रदेश में कुल 131 जेल हैं।

एनएचएम के कर्मचारियों को मिली सौगात

नेशनल हेल्थ मिशन ने स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मचारियों के वेतन में 2 से 3 हजार की बढ़ोतरी की है। यह बढ़ोतरी प्रतिमाह प्रोत्साहन भत्ते के रूप में की गई। इस संबंध में मिशन की संचालक छवि भारद्वाज ने गुरुवार को आदेश जारी किए। इसके अनुसार टेक्निकल और मैनेजेरियल कैडर को विशेष प्रोत्साहन भत्ता दिया जाएगा। गौरतलब है कि मिशन के संविदा कर्मचारियों ने उक्त मांग को लेकर गत दिनों हडताल की थी। इसके बाद सरकार ने मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया था। उक्त बढ़ोत्तरी इसी क्रम में हुई।

Previous articleईंधन तेल के बढ़ते दाम के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन आज
Next articleसुरेंद्र सिंह राजपूत आज संभालेंगे रेरा सदस्य का दायित्व

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here