Home भोपाल मप्र के 27 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी

मप्र के 27 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी

57
0
  • प्रदेश भर में जारी है रूक-रूक कर बारिश का दौर
  • पन्ना और उमरिया में बिजली गिरने से हुई कुल चार मौतें


भोपाल। मध्यप्रदेश में रुक-रुककर बारिश का दौर लगातार जारी है। आगामी 24 घंटों में प्रदेश के 27 जिलों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की गई। उधर पन्ना और उमरिया में बिजली गिरने से कुल छह लोगों की मौत हो गई, कई लोग घायल है जिनका अस्पताल में उपचार चल रहा है। पन्ना जिला प्रशासन ने कुल तीन लोगों की मौत और 13 लोगों के घायल होने की पुष्टि की है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। यह वर्तमान में उड़ीसा कोस्ट के आसपास है। मानसून ट्रफ भी मध्यप्रदेश से होकर गुजर रहा है।

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

मौसम केंद्र भोपाल द्वारा अगले चौबीस घंटों में रीवा, सतना, अनूपपुर, उमरिया, सतना, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, छतरपुर, टीकमगढ़, विदिशा, नरसिंहपुर, मण्डला, सागर, विदिशा, सीहोर, राजगढ़, बैतूल, बुरहानपुर, खण्डवा, खरगौन, धार, देवास, आगर, अशोकनगर एवं शिवपुरी जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही गरज-चमक के साथ बिजली गिरने की भी संभावना जताई गई है।

बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र

मौसम विज्ञानी पीके साहा के अनुसार, वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। मानसून ट्रफ अनूपगढ़, सवाई माधोपुर, झांसी, रीवा, अंबिकापुर, चायबासा से होते हुए बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम तक बना हुआ है। महाराष्ट्र के तट से केरल के तट तक एक अपतटीय ट्रफ बना हुआ है। दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के सक्रिय रहने से राजधानी सहित पूरे प्रदेश में अच्छी बरसात हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि 27 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में एक अन्य कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। इस वजह से प्रदेश में बारिश का सिलसिला आगे भी बना रहने की संभावना है।

सर्वाधिक बारिश उमरिया में

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक उमरिया में 170, खंडवा में 122, श्यौपुरकलां में 72, जबलपुर में 71.7, शाजापुर में 55, मलाजखंड में 42.2, मंडला में 37, सीधी में 34.4, उज्जैन में 30.6, सागर में 26, दतिया में 25.6, सतना में 24.6, दमोह में 24, भोपाल में 23.3, गुना में 22.4, बैतूल में 15.2, नौगांव में 11, छिंदवाड़ा में 10 मिलीमीटर बरसात हुई।

पन्ना में बिजली गिरने से 5 की मौत, 18 घायल

जिले में आकाशीय बिजली गिरने से अलग-अलग घटनाओं में 5 की मौत हो गई तो वहीं 18 घायल हो गए हैं। जिले के सलेहा थाना अंतर्गत पटना तमोली ग्राम पंचायत के उरेहा गांव में खेत में धान का रोपा लगाते समय अचानक आकाशीय बिजली गिरने से दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 10 अन्य व्यक्ति झुलस कर घायल हो गए। मृतकों में लक्ष्मी पिता विकास कोल निवासी कोलगवा 28 वर्ष व काजल पता पिता राम नारायण गुप्ता निवासी कोलगवा शामिल है। आकाशीय बिजली गिरने की जानकारी मिलने पर थाना प्रभारी सलेहा दल बल के साथ तुरंत घटनास्थल पहुंचे और घायलों को प्राथमिक उपचार हेतु सलेहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। वहीं मृतक महिलाओं के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

ग्राम सिमरा एक बुजुर्ग की मौत

दूसरी घटना में पवई थाना अंतर्गत सिमरा ग्राम में आकाशीय बिजली गिरने से तेजीलाल पटेल 70 वर्ष की मौके पर मौत हो गई। आकाशीय बिजली गिरने की घटना उस समय घटित हुई जब तेजीलाल अपने खेत में भैंस चरा रहा था। आकाशीय बिजली की चपेट में आने से उसके एक भैंस के भी मौत हो गई। इसके अलावा पास के ही खेत में काम कर रहे किसान भरत लाल पटेल भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

वहीं पवई थाना अंतर्गत ही ग्राम पिपरिया दौन के सरपंच के बड़े भाई वेद नारायण पाठक पिता राम गोपाल पाठक की मौत हो गई तथा 6 लोग घायल हो गए जिसमें 2 महिलाओं की गंभीर हालत को देखते हुए जिला चिकित्सालय पन्ना रेफर किया गया। साथ ही ग्राम चौमुखा में एक 65 वर्षीय वृद्ध इक्तर आदिवासी की भी मौत आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हो गई। घटना को लेकर कलेक्टर पन्ना संजय कुमार मिश्र ने अस्पताल पहुंचकर घायलों को देखा और मृतकों के स्वजनों को हर संभव मदद देने की बात कही है।

Previous articleहॉकी में पुरुष टीम का शानदार आगाज, न्यूजीलैंड को 3-2 से हराया
Next articleपिता के जीवन संघर्ष से उपजा एक प्रतिभाशाली निदेशक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here