Home भोपाल संस्कृत भारती के प्रशिक्षण शिविर में लाभांवित हो रहे 184 शिक्षक

संस्कृत भारती के प्रशिक्षण शिविर में लाभांवित हो रहे 184 शिक्षक

13
0
  • विश्व में संस्कृत भारती का योगदान अतुलनीय, मध्य भारत प्रांत द्वारा 5 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग आयोजन

स्वदेश संवाददाता, भोपाल

संस्कृत का प्रचार एवं प्रसार में देश के साथ-साथ विश्व में संस्कृत भारती का योगदान अतुलनीय है। उस क्रम में संस्कृत भारती, मध्य प्रांत द्वारा 26 से 30 मई 2021 में ऑनलाइन के द्वारा संस्कृत शिक्षक प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें मध्य भारत प्रांत के 184 शिक्षकों कों प्रशिक्षण दिया जा रहा है। पांच मुख्य आयामों के ऊपर प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिसमें प्रत्येक आयाम के सिद्धांत एवं उसके प्रयोग पक्ष के ऊपर बल दिया जा रहा है। संस्कृत के द्वारा भारतीय संस्कृति का संरक्षण हेतु कटिबद्ध संस्कृत भारती, मध्य भारत प्रांत के द्वारा यह वर्ग आयोजन किया जा रहा है।

ये हैं पांच आयाम

पांच आयामों में क्रमश: बाल केंद्र, संभाषण शिविर, दैनिक कक्षा, साप्ताहिक मिलन, गीता शिक्षण केंद्र हैं। पांच आयामों के प्रशिक्षक के रूप में डॉक्टर डंबरुधर पति, विनय सिंह, पवन द्विवेदी, बृजमोहन शर्मा, डॉक्टर हरेंद्र कुमार भार्गव, डॉ. विष्णु नारायण तिवारी, श्रीमती मीना साहू, डॉक्टर विश्व बंधु गौतम एवं डॉक्टर कृष्ण कांत तिवारी प्रशिक्षण कार्य कर रहे हैं।

इनका मिल रहा मार्गदर्शन

वर्ग के प्रथम दिवस में मुख्य अतिथि के रूप में संस्कृत भारती के क्षेत्र संयोजक एवं चेयरमैन पतंजलि संस्कृत संस्थान मध्य प्रदेश श्री भरत बैरागी जी का र्गदर्शन प्राप्त हुआ। इस क्रम में प्रांत अध्यक्ष डॉक्टर श्री अशोक भदौरिया जी, प्रांत के न्यास सचिव एवं वर्ग के पालक श्री विजय डाले जी एवं प्रांत के संगठन मंत्री श्री नीरज दीक्षित जी के मार्गदर्शन से वर्ग संचालित है।

संचालन समिति का निर्माण

शिक्षक प्रशिक्षण वर्गों की सुव्यवस्था हेतु संचालन समिति का निर्माण किया गया। जिसमें वर्ग पालक श्री विजय डाले जी, मार्गदर्शक- डॉ विष्णु नारायण तिवारी जी,( प्रान्त शिक्षण प्रमुख), समन्वयक- डॉ डंबरुधर पति (प्रांत प्रचार प्रमुख) , बौद्धिक प्रमुख -डॉक्टर हरेंद्र कुमार भार्गव, व्यवस्थापक -डॉक्टर विश्व बंधु गौतम, संगठनात्मक बौद्धिक प्रमुख-श्री पवन द्विवेदी, संपर्क का दायित्व- श्री व्रजमोहन शर्मा जी को दायित्व सौंपा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here