Home भोपाल जबलपुर के बाद अब भोपाल में जूडा ने दी काम बंद हडताल...

जबलपुर के बाद अब भोपाल में जूडा ने दी काम बंद हडताल की चेतावनी

17
0
  • 8 अप्रैल से ओपीडी और ऑपरेशन नहीं करेंगे चिकित्सा छात्र, सिर्फ इमरजेंसी ड्यूटी करेंगे

भोपाल। अपनी मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे मेडिकल कॉलेजों के चिकित्सा छात्र (जूनियर डॉक्टर्स) ने जबलपुर में ओपीडी सेवाएं कक्ष में न देकर टेंट में मरीजों का इलाज कर रहे हैं। अब ये स्थिति भोपाल में भी बन सकती है। जूडा का कहना है अगर सरकार उनकी बात नहीं मानती है तो 8 अप्रैल से भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में सांकेतिक हड़ताल पर चले जाएंगे।

जूडा के अध्यक्ष डॉ. अरविंद मीणा ने बताया कि सरकार और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को बार-बार पत्र देने और आग्रह करने के बाद उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। डॉ.़ मीणा का कहना है कि जूडा ने कोरोना को देखते हुए पहले हड़ताल का फैसला स्थगित कर दिया था। लेकिन सरकार ने जूडा की मांगों को अनसुना कर रही है। हम इस संकट के हालात में मरीजों को परेशानी में नहीं डालना चाहते इस लिए सांकेतिक हड़ताल करेंगे,इस दौरान रूटीन ऑपरेशन और ओपीडी में इलाज नहीं होगा। सरकार फिर भी नहीं मानी तो इमरजेंसी सेवाओं को भी हड़ताल में शामिल कर लिया जाएगा।

यह हैं मांगे

  • हमीदिया में केवल गंभीर कोविड पेशेंट ही भर्ती किये जाएं
  • सरकार की ओर से 6 प्रतिशत सालाना मानदेय बढ़ाने का वायदा पूरा किया जाए
  • कोरोना के दौरान प्रति महीने 10 हजार रुपये मानदेय देने का वायदा पूरा किया जाए
  • कोरोना काल में ड्यूटी कर रहे जूनियर डॉक्टर्स को ग्रामीण सेवा के बंधन से मुक्त किया जाएकोरोना काल में सेवा के लिए प्रशस्ति पत्र दिया जाए जिसका फ ायदा सरकारी भर्ती में भी मिले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here