Home भोपाल आठ घंटे तक चले ऑपरेशन में जोड़ा महिला का हाथ, चरित्र संदेह...

आठ घंटे तक चले ऑपरेशन में जोड़ा महिला का हाथ, चरित्र संदेह के चलते शराबी पति ने काटे थे महिला के हाथ

47
0

भोपाल। चरित्र संदेह के चलते शराबी पति द्वारा बीती रात निशातपुरा क्षेत्र में पत्नी के बाएं हाथ व पैर फरसे से काटने वाले आरोपी को पुलिस ने मौके से ही गिरफ्तार कर लिया था। वहीं रात ढाई बजे महिला के हाथ जोडऩे के लिए हमीदिया अस्पताल में ऑपरेशन शुरू हो गया था, जो सुबह ग्यारह बजे तक चला। आठ घंटे के लगभग चले ऑपरेशन के बाद महिला का हाथ को जोड़ दिया गया है। महिला का हमीदिया अस्पताल मेें इलाल चल रहा है। महिला का आधा दर्जन डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेशन किया है, जिसमें आर्थोपेडिक और प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के लोग शामिल हैं। दो दिन बाद साफ होगा की महिला के हाथ में कितना मूवमेंट हो रहा है। हालांकि पैर की उंगलियों को जोड़ दिया गया है, लेकिन वह सही से काम नहीं कर पाएंगे। दो दिन बाद डॉक्टर दूसरा ऑपरेशन कर उसके पांव में आर्टिफिशियल पंजा लगाएंगे। जिससे महिला दोबारा चल फिर सकेगी। फिलहाल महिला को ओटी से बाहर नहीं लाया गया गया है। टीआई महेंद्र सिंह चौहान के अनुसार महिला का आपरेशन रात करीब ढाई बजे हमीदिया अस्पताल में शुरू किया गया था। उसके हाथ के पंजे को डाक्टरों ने जोडऩे में कामयाबी हासिल की है। हालांकि अब उसका हाथ कितना काम कर सकेगा, यह बात दो तीन दिन बाद साफ हो सकेगी।
लगेगा आर्टिफिशियल पैर
दो दिन बाद महिला की स्थिति में सुधार होने के बाद पांव का ऑपरेशन कर रॉड डाला जाएगा। इसके बाद महिला की सर्जरी कर कटे हिस्से में आर्टिफिशियल पार्ट जोड़ा जाएगा। इससे महिला को चलने फिरने में काफी हद तक मदद मिलेगी। पुलिस ने आरोपी पति प्रीतम सिंह सिसौदिया को गिरफ्तार कर लिया है, उसके खिलाफ हत्या के प्रयास और अंग भंग करने का मुकदमा दर्ज किया गया है।
क्या है पूरा मामला?
प्रीतम सिंह मजदूरी करता है और करोंद के पास पारस कॉलोनी में रहता है। वहीं उसकी पत्नी 32 वर्षीय संगीता इंदौर स्थित एक कंपनी में सुपरवाइजर की नौकरी करती है। संगीता हर पखवाड़े भोपाल आती है। भोपाल आने के बाद फोन पर बात करने के कारण उसका पति उसके चरित्र पर शक करता था। चरित्र शंका की वजह से बीती रात दोनों में विवाद हुआ। इसके बाद शराब के नशे में धुत पति प्रीतम सिंह ने कमरे में रखे फरसे से पत्नी का हाथ और पैर काट दिया था। हमले के बाद संगीता बदहवास सी बैठी रह गई। वारदात के बाद आरोपी प्रीतम भी घर से नहीं भागा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here