Home » भोपाल आरपीएफ ने एक साल में 252 बच्चों को पहुंचाया घर, 36 व्यक्तियों की बचाई जान 

भोपाल आरपीएफ ने एक साल में 252 बच्चों को पहुंचाया घर, 36 व्यक्तियों की बचाई जान 

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने  मिशन नन्हें फ रिश्ते के तहत बीते एक साल में भोपाल रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले स्टेशनों अथवा ट्रेनों में मिले 252 बच्चों को घर पहुंचाया है और उनके परिजन से मिलाया है। इस दौरान करीब 36 व्यक्तियों की जान भी बचाई है। ऑपरेशन सतर्क के तहत 1,71,583 रूपए के मादक पदार्थ व शराब जब्त की गई।  रेल सीमा में धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों पर कार्रवाई करते हुए 4767 लोगों की रसीदें काटी गई और इन पर 9,53,400 रूपए जुर्माना भी लगाया गया है।

यह आंकड़ा भोपाल रेल मण्डल में वर्ष-2022-23 (1 अप्रेल 2022 से 31 मार्च 2023 तक) में आरपीएफ  द्वारा की गई कार्रवाई में सामने आया है। रेलवे के अनुसार, इस दौरान ऑपरेशन मातृशक्ति के तहत गर्भवती महिला यात्रियों को डिलेवरी कराई गई और उचित मेडिकल सहायता उपलब्ध कराई गई है। उल्लेखनीय है कि रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) को रेलवे संपत्ति, यात्रियों और उनसे जुड़े मामलों की सुरक्षा की जिम्मेदारी के साथ-साथ राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में अन्य जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं।

354 यात्रियों का सामान लौटाया :

मिशन अमानत के तहत आरपीएफ द्वारा 354 यात्रियों का ट्रेन व स्टेशन पर छूटा सामान बरामद कर लौटाया गया। जिसकी कुल कीमत 71,65,850 रूपए है। ट्रेन व स्टेशन परिसर में रेल सम्पत्ति की चोरी करने के 102 प्रकरण दर्ज कर 228 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। इनसे  3109476 रूपए की रेल सम्पत्ति की बरामदगी की गई है।

नियमों तोडऩे पर 14137 प्रकरण दर्ज, चैन पुलिंग के 1963 प्रकरण :

आरपीएफ द्वारा ट्रेन व स्टेशन परिसर में रेल अधिनियम का उल्लंघन करने के 14137 प्रकरण दर्ज किए गए और इनसे 1,70,61,458  रूपए की जुर्माना भी वसूल किया गया है। अनाधिकृत अलार्म चैन पुलिंग करने के 1963 प्रकरण दर्ज किए गए और 1357 व्यक्तियों को गिरफ्तारी कर 17,81,298 रूपए का जुर्माना वसूल किया गया है।

अवैध से खानपान विक्रय पर 1.18 करोड़ रूपए जुर्माना :

आरपीएफ द्वारा रेल टिकटों का अवैध व्यापार करने वाले टिकट दलालों के विरूध्द कार्रवाई करते हुए रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत 57 प्रकरण दर्ज किए गए और 1,89,000 रूपए जुर्माना वसूला गया है। इसके साथ ही ट्रेनों, स्टेशन परिसर में अवैध से खान पान विक्रय करने के 8971 प्रकरण दर्जकर 1,18,74,835 रूपए जुर्माना किया गया।

Related News

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd