Home भोपाल भोजपाल महोत्सव मेला शुरू, छटवें वर्ष में किया प्रवेश

भोजपाल महोत्सव मेला शुरू, छटवें वर्ष में किया प्रवेश

90
0

स्वदेश संवाददाता। भोपाल राजधानी स्थित भेल दशहर मैदान गोविंदपुरा में भोजपाल महोत्सव मेला की शुरूआत 22 फरवरी सोमवार से हो गई है, यह मेला 25 मार्च तक आयोजित किया जाएगा। इस महोत्सव मेले में लगभग 10 से 15 लाख नागरिकों की आने की संभावना मेला आयोजकों ने व्यक्त की हैं। मेला आयोजकों ने बताया कि भोपाल के उत्सवी कार्यक्रमों में ‘भोजपाल महोत्सव मेला’ अपने 6 वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। भोपाल मध्यप्रदेश का ह्दय नगर है। भेल विभिन्न भाषा-भाषी सामाजिक, सांस्कृतिक महत्ताओं से पूर्ण नगर है। उत्सव व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की पुरानी परंपरा है। भोपाल का प्राचाीन इतिहास है, भोपाल को राजाभोज ने बसाया था। पूर्व में भोजपाल नगर के नाम से जाना था और आज भोपाल के नाम से जाना जा रहा है। इतिहास में दर्ज कथाओं में वर्णन है कि राजाभोज बहुत वीर प्रतापी विद्धवान पंडित और गुणग्राही थे, उन्होंने शौेर्य पराक्रम से अनेक देशों पर विजय प्राप्ति की थी ऐसे पराक्रमी पुरुष का जीवन दर्शन हमारे लिये प्रेरणादायी हैं। मां सरस्वती के वरद पुत्र महाराजा राजाभोज की स्मृति में ‘भोजपाल महोत्सव मेला’ समर्पित है।
ये हैं महोत्सव के उद्देश्य
मेला आयोजकों ने भोजपाल महोत्सव मेला को उद्देश्य बताया कि सामाजिक समरसता को प्रगांण करना, समाज की उभरती प्रतिभाओं को अवसर प्रदान करना, महापुरुषों के जीवन वृतांत की प्रदर्शनी लगाना, महिला उद्यमियों/व्यवसाइयों को स्थान उपलब्ध कराना, पारिवारिक महोत्सव में मनोरंजन के साथ विविध प्रकार के स्वादिष्ठ व्यंजनों को उपलब्ध कराना, कलाशिल्प, हस्तशिल्प, लोकनृत्य, गीत व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के लिये कलाकारों को मंच उपलब्ध कराना एवं नागरिकों को मनोरंजन उपलब्ध कराना इत्यादि।
ये हैं व्यापारिक केन्द्र
प्रापट्री ऑटोमोबाइल , इलेक्ट्रानिक टेलीकाम, वूलन महासेल, फर्नीचर महासेल, हैण्डीक्राफ्ट हैण्डलू, स्वादिष्ट व्यंजन, बैकिंग इन्शोरेन्स, आर्ट गैलरी, इंटीरियर, महिलाओं की सौंदर्य सामग्री, खुर्जा क्राकरी, कपडे, आकर्षक एंव मनोरंजक झूले, सर्कस, खेलकूंद के स्टॉल महोत्सव के मुख्य आकर्षण रहेंगे।
ये होंगी सांस्कृतिक गतिविधियां
देश के प्रसिद्ध कव्वालों द्वारा कव्वाली, अखिल कवि सम्मेलन, विभिन्न प्रदेशों के लोकनृत्य समूहों की प्रस्तृति, बालीवुड गानों की प्रस्तुति, आकेस्ट्रा, रॉकबैण्ड, विभिन्न प्रकार के समूओं की डांस प्रतियोगिगिताओं के साथ विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति की जायेंगी।
ये हैं मेला के आक र्षक झूले
विभिन्न प्रदेशों के विविध प्रकार के झूले इस मेले में लगाने जा रहे है, जैसे – रोलर कोस्टर, रेंजर, बे्रकडांस, एरोप्लेन, मिनी ट्रेन,बड़ी नाव, आकटोपस, चांदतारा , टोराटोरा, मौत का कुआ, स्ट्रइकिंग कार,्र एवं अन्य विभिन्न प्रकार के आकर्षक झूले इस महोत्सव मेले मेें शहरवासियों का मनोरंजन करायेंगे।
ये होंगे अन्य आकर्षण
महोत्सव में अमर सर्कस (ख्यातिमान कलाकारों की रोमांचिक एवं साहसिक प्रस्तुतिकरण देंगे।), लकी ड्रा करवाया जाएगा इसमें मेले आगंतुकों के लिए विशेष रूप से ईनामी योजना जिसमें एक्टीवा स्कूटर, एलईडी टी.व्हीं. फ्रीज के साथ सथ कई अन्य उपहार विजेताओं को दिये जावेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here