Home » जब तक सृष्टि है तब तक धर्म बना रहेगा, भारत विश्वगुरू बन रहा है : मोहन भागवत

जब तक सृष्टि है तब तक धर्म बना रहेगा, भारत विश्वगुरू बन रहा है : मोहन भागवत

जबलपुर। नरसिंह पीठाधीश्वर स्वामी श्याम देवाचार्य की द्वितीय पुण्यतिथि के कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पहुंचे। मोहन भागवत ने यहां पर कहा कि जब तक सृष्टि का प्रयोजन बना रहेगा जब तक भारत का अस्तित्व रहेगा। मोहन भागवत ने कहा कि भारत वर्ष का प्रयोजन अमर है। मनुष्य दुनिया का सबसे दुर्बल जीव है। विज्ञान ने सुख, सुविधाएं भौतिकवाद तो दिया लेकिन शांति, संतोष नहीं दिया। उन्होंने कहा कि धर्म पहले भी था, आज भी है आगे भी रहेगा। जब तक सृष्टि है तब तक धर्म बना रहेगा। नरसिंह मंदिर में उन्होंने श्यामादेवाचार्य की प्रतिमा का अनावरण किया। यहां 12 अप्रैल से कार्यक्रम चल रहे थे जिसका मंगलवार को समापन हुआ। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी शहर आगमन होना था लेकिन किसी कारणवश वे नहीं आ सके।

सबसे ज्यादा सेवा हमारे संत करते हैं

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि विश्व ने जब युद्ध करके जब अपना वर्चस्व स्थापित करने की कोशिश की, तब हमने युद्ध पीडि़तों को मरहम लगाया। दुनिया के अध्ययन में ये बात सामने आई है कि सबसे ज्यादा सेवा हमारे संत करते हैं। उन्होंने कहा कि मिशनरियों का बोलबाला है, लेकिन चेन्नई में 4 राज्यों ने समीक्षा की तो उजागर हुआ कि सबसे ज्यादा सेवा हमारे संत करते हैं। गूढ़ बातों को सामान्य शब्दों में संत समझते हैं। इनके होने पर दुनिया का अस्तित्व बना हुआ है।

भारत विश्वगुरू बनने जा रहा है

मोहन भागवत ने कहा है कि सनातन धर्म ही हिंदू राष्ट्र, हिंदू संस्कृति है। भारत विश्व गुरु बनने जा रहा है और हमें बनना ही है। आज हम ही क्या, सारी दुनिया कह रही, भारत होने वाली महाशक्ति है। शक्ति के बिना भगवान शिव भी शव हैं। लेकिन, हमारी शक्ति दुर्बलों की रक्षा करेगी। सनातन धर्म के अनुसार अपने जीवन के तरीके को खड़ा करो, हम किसी को जीतेंगे नहीं, बदलेंगे नहीं। संतों के उपदेशों को ग्रहण करते हुए हम सब धर्म के मार्ग पर चलें, तब यह संभव है। श्यामदेवाचार्य जैसी हस्तियां जाने के बाद भी पार्थिव रूप में हमारे साथ रहती हैं।

सब प्राणियों का राजा मनुष्य

मोहन भागवत ने कहा कि मनुष्य सभी प्राणियों का राजा है। एक मनुष्य ही है जिसमें सोचने समझने की क्षमता है। मनुष्य सोचता है कि सब मिलकर रहें। मनुष्य ने समूह बनाए, जिन्हें कबीले कहा गया। कबीले लड़ते थे, रक्तपात होता था, इसलिए राजा बना दिया गया।

Related News

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd