त्वचा की देखभाल के लिए बढ़ा फेस ऑयल का इस्तेमाल

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

त्वचा की देखरेख के लिए अक्सर महिलाएं काफी चिंतित रहती है । ऐसे में हम आपको आज स्किन के लिए फेस ऑयल के बढ़ते इस्तेमाल के बारे में बताने जा रहे है । लेकिन फेस ऑयल का सही फायदा तभी मिलता है जब उसे स्किन टाइप के अनुसार चुना जाए और आपको उस ऑयल के फायदे की जानकारी हो। किस स्किन टाइप के लिए कौन सा फेस ऑयल सही है । सीरम की तरह ही फेस ऑयल का इस्तेमाल भी तेजी से बढ़ रहा है। तेल, अपने आप में स्किन को मॉइस्चराइज नहीं करता, लेकिन यह त्वचा को नमी को बनाए रखने में मदद करता है।

Facial Oil For Glowing Skin : ग्लोइंग और बेदाग स्किन के लिए फेशियल ऑयल का  करें इस्तेमाल, जानें सही तरीका - Hindi Boldsky

फेस ऑयल लगातार ड्राई और डल स्किन को सॉफ्ट और हेल्दी बनाए रखा जा सकता है। फेस ऑयल लगाने के बाद स्किन सॉफ्ट और शाइनी दिखती है। उदाहरण के लिए, ऑलिव ऑयल और कोकोनट ऑयल स्किन की नमी बनाए रखते हैं और उसे मॉइस्चराइज करते हैं। फेस ऑयल्स के हीलिंग गुण कई स्किन प्रॉब्लम्स से बचाते हैं और चेहरे की खूबसूरती बढ़ाते हैं।

ये भी पढ़ें:  हाई कोलेस्टॉल से बढ़ता हैं हार्ट अटैक और आंखों की रोशनी जाने का खतरा
चेहरे पर इस्तेमाल कर रही हैं Facial Oil तो जानिए एक्सपर्ट्स की राय -  benefits-of-facial-oil-for-skin - Nari Punjab Kesari

आमतौर पर जोजोबा या आर्गन ऑयल को फेस ऑयल के रूप में अधिक महत्व दिया जा रहा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि तिल या जैतून का तेल कम प्रभावी है। कई बार ये इस बात पर भी निर्भर करता है कि किस तेल के साथ कौन सा तेल मिलाया जा रहा है। यानी तेलों के सही मिश्रण से उसका प्रभाव बढ़ जाता है।

ऑयली स्किन के लिए तुलसी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है और मुंहासों से भी राहत देता है। तुलसी का तेल स्किन का पोषण कर उसे चमकदार बनाता है। स्किन की हेल्थ और चमक बढ़ाने के लिए ऑयली स्किन के साथ ही ड्राई और नॉर्मल स्किन के लिए भी तुलसी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें:  हाई कोलेस्टॉल से बढ़ता हैं हार्ट अटैक और आंखों की रोशनी जाने का खतरा

स्किन के लिए नीम का तेल एक बहुत गुणकारी है, लेकिन इसे सीधे त्वचा पर इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। इसे तिल या बादाम के तेल के साथ स्किन पर लगाने से मुंहासे, फोड़े-फुंसियां, फंगल इंफेक्शन में आराम मिलता है। ऑयली स्किन के लिए नीम का तेल विशेष तौर पर लाभकारी है।

आयुर्वेदिक फेस ऑयल्स में त्वचा के लिए कुमकुमादि तैलम बहुत फायदेमंद है। इसमें लगभग 24 हर्बल अर्क होते हैं। तेल के अवयवों में केसर, चंदन, मंजिष्ठा, खस, दारुहल्दी, बरगद के पेड़ की पत्तियां और कई अन्य कीमती अर्क हैं। तिल का तेल इसका बेस ऑयल है।

कुमकुमादि तेल सभी प्रकार की त्वचा के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे रात में इस्तेमाल किया जाना ज्यादा फायदेमंद है। कुमकुमादि तेल ओपन पोर्स को साफ करता है और डेड स्किन को हटाता है।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News