Home लाइफ स्टाइल महिलाएं हर उम्र में बॉडी में किस तरह करें आयरन की कमी...

महिलाएं हर उम्र में बॉडी में किस तरह करें आयरन की कमी को पूरा, भारत सरकार ने दिए सुझाव

74
0

नई दिल्ली। हमारी अच्छी सेहत के लिए संतुलित आहार बेहद जरूरी है। खराब डाइट की वजह से बॉडी में जरूरी पोषक तत्वों की कमी होने लगती है जिसका सीधा असर हमारी बॉडी में दिखता है। आयरन भी हमारी बॉडी के लिए जरूरी पोषक तत्व है जिसकी कमी से शरीर में रेड ब्लड सेल्स की मात्रा बेहद कम हो जाती है। रेड ब्लड सेल्स के निर्माण के लिए हीमोग्लोबिन की आवश्यकता होती है जो आयरन में पाया जाता है, इसकी गैर मौजूदगी में सभी टिश्यूज और मसल्स तक जरूरी मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंचा पाता। आयरन की कमी सबसे ज्यादा महिलाओं को होती है।

महिलाओं को बचपन में, पीरियड के दौरान और प्रेग्नेंसी में आयरन की कमी की समस्या का सबसे अधिक सामना करना पड़ता है। आंकड़ों के मुताबिक भारत में 80 प्रतिशत से अधिक गर्भवती महिलाएं एनीमिया से पीड़ित हैं। आयरन की कमी होने से प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को बेहद खतरा रहता है, यहां तक की उनकी जान भी जा सकती है। प्रेग्नेंसी में खून की कमी की वजह से शिशु के विकास में रुकावट आ सकती है। इतना ही नहीं, बच्चे को कई तरह की गंभीर समस्‍याएं भी हो सकती है। आयरन महिलाओं के लिए हर उम्र में जरूरी पोषक तत्व है, जिसका उपचार करना जरूरी है। भारत सरकार भी महिलाओं में आयरन की कमी को लेकर चिंतित है, जिसके लिए समय-समय पर महिलाओं को इसकी कमी को दूर करने के सुझाव भी देती है।

बॉडी में आयरन की कमी के लक्षण

बॉडी में ऑयरन की कमी का सबसे बड़ा लक्षण थकान है। शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने के लिए पर्याप्त आयरन नहीं होता है, जिसके बिना मांसपेशियों तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती और हमारी बॉडी थकी हुई महसूस करती है। बॉडी में आयरन की कमी को पूरा करने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें। इनमें ब्रॉकली, पालक, केल, टर्पिन ग्रीन्स, कॉलर्ड, एसपारागर, मशरूम, आलू को छिलके के साथ खाएं। ये सभी आयरन बढ़ाने के लिए मदद कर सकते हैं। आयरन की कमी को पूरा करने के लिए अनाज का अधिक सेवन करें।
फलों और ड्राईफ्रूट का सेवन करें।


आयरन की कमी को पूरा करने के लिए डाइट में अंडा, मछली, रेड मीट, साबुत अनाज, दालें, बींस, चीज, लिवर, सोयाबीन और शहद को शामिल करें। प्रेग्नेंसी में चुकंदर और पालक का सेवन करें, इसमें प्रचूर मात्रा में आयरन मौजूद होता है।

कैफीन शरीर में भोजन से आयरन को अवशोषित करने की क्षमता को कम कर देती है, इसलिए प्रेग्नेंसी में चाय और कॉफी का सेवन कम करें।
खाना पकाने के लिए लोहे की कढ़ाई और बर्तनों का इस्‍तेमाल करें, इससे भोजन में आयरन की मात्रा बढ़ जाती है। विटामिन सी प्रेग्नेंसी में बेहद जरूरी है, इसलिए डाइट में विटामिन सी से भरपूर फ्रूट को शामिल करें। सभी खट्टे फलों में विटामिन सी मौजूद है।

Previous articleआइपीएल 2021 : केएल राहुल ने किया गेंदबाजी का फैसला, क्रिस गेल प्लेइंग XI से बाहर
Next articleअफगानिस्तान में मुल्‍ला बरादर को बंधक बनाने और हैबतुल्लाह अखुनजादा की मौत की खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here